mujib

भोपाल सेंट्रल जेल से कथित फरारी और फिर एमपी पुलिस द्वारा कथित पुलिस मुठभेड़ में मरे गये 8 सिमी सदस्यों में से एक अहमदाबाद के रहने वाले मुजीब जमील शेख की माँ मुमताज शेख ने पुलिस पर उनके बेटे सहित सभी सिमी सदस्यों को फर्जी मुठभेड़ में मारें जाने का आरोप लगाया.

मुजीब को दफनाने के बाद रोते-बिलखते हुए मुमताज शेख ने कहा कि मध्य प्रदेश पुलिस ने मेरे बेटे और अन्य सभी को मारने की साजिश रची और फर्जी एनकाउंटर में मार दिया. उन्होंने कहा,उनके बेटे के पास कोई हथियार नहीं थे. मुमताज ने कहा है कि भोपाल से कुछ लोगों ने बताया कि पहले सभी को पुलिस अपनी गाड़ी में भरकर एनकाउंटर वाली जगह पर ले गई और गांव वालों को बताया कि ये आतंकवादी हैं.

उन्होंने आगे कहा, सभी ने गांववालों से मदद भी मांगी और चिल्लाए, लेकिन पुलिस ने उन्हें गोली मार दी. मुजीब की मां ने मुजीब को मुजाहिदीन बताते हुए जहा वह शहीद हुआ है.

वहीँ गुजरात जन आंदोलन के कंवेनर गौतम ठाकर ने इस मामले की जांच सुप्रीम कोर्ट के सिटिंग जज से करवाने किन मांग करते हुए कहा, सरकार की किसी एजेंसी की जांच पर विश्वास नहीं किया जा सकता. गुजरात में सोहराबुद्दीन से लेकर इशरत जहां जैसे फर्जी मुठभेड़ों की सीरीज में भोपाल एनकाउंटर आगे की कड़ी है और इसकी भी जांच होनी चाहिए.


लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

कमेंट ज़रूर करें