kashmir650x425_090416093531

कश्मीर घाटी में बुरहान वानी के एनकाउंटर के बाद से जारी हिंसा के बाद अमन बहाली के लिए गृह मंत्री राजनाथ सिंह के नेतृत्व में रविवार को सर्वदलीय प्रतिनधिमंडल कश्मीर रवाना हो गया.

दूसरी और प्रतिनिधिमंडल के आने से पहले जम्मू कश्मीर की मुख्यमंत्री महबूबा मुफ़्ती ने हुर्रियत कॉन्फ्रेंस समेत सभी पक्षों को बातचीत में शामिल करने के लिए न्‍योता दे दिया है. हालांकि उन्होंने पीडीपी के प्रेसिडेंट के तौर पर न्योता दिया ना की जम्मू कश्मीर की मुख्यमंत्री के तौर पर.

सर्वदलीय प्रतिनिधिमंडल में शामिल सीपीआई-एम के महासचिव सीताराम येचुरी ने भी हुर्रियत कॉन्फ्रेंस के नेताओं को भी बातचीत के लिए निमंत्रण भेजे जाने की वकालत करते हुए कहा, हुर्रियत कॉन्फ्रेंस के नेताओं को भी बातचीत के लिए निमंत्रण भेजे जाना चाहिए.

हुर्रियत नेताओं को भी प्रतिनिधिमंडल के साथ बातचीत करने की येचुरी की मांग का समर्थन अकाली दल के सांसद प्रेम सिंह चंदू माजरा और आरजेडी सांसद जयप्रकाश यादव कांग्रेस से मल्लिकार्जुन खड़गे, गुलाम नबी आजाद और अंबिका सोनी ने भी किया.

राज्यसभा में नेता विपक्ष गुलाम नबी आजाद ने भी कहा कि हम सब चाहते हैं कि हालात ठीक हो जाए. हम ये भी चाहते हैं कि सरकार कश्मीर के हालात पर सभी स्टेक होल्डर से बातचीत करे.


लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

कमेंट ज़रूर करें