मुंबई | पिछले तीन सालो में कई देशभक्ति फिल्मे करने के कारण , बॉलीवुड के खिलाडी कुमार , अक्षय कुमार , देश के नए भारत कुमार बन गए है. फिल्म ‘रुस्तम’ के लिए तो उनको नेशनल अवार्ड से भी नवाजा गया है. इसके अलावा इन सालो में अक्षय कुमार देश के सबसे बड़े राष्ट्रवादी हीरो बनकर भी उभरे है. इसमें कुछ उनकी फिल्मो का और कुछ उनकी दरियादिली का भी हाथ है.

दरअसल अक्षय कुमार आजकल देश के जवानों के प्रति काफी संजीदा दिखाई देते है. यही कारण है की आतंकी और नक्सली हमलो में शहीद हुए जवानों के परिवारों को उन्होंने आर्थिक मदद भी दी है. इसके अलावा उन्होंने एक एप लांच कर लोगो से शहीद जवानों के परिवार वालो को आर्थिक मदद देने की भी अपील की है. अभी हाल ही में सुकमा में हुए नक्सली हमले में शहीद हुए 25 जवानों के परिवारों को उन्होंने 9-9 लाख रूपए की आर्थिक मदद की है.

और पढ़े -   नेपाल में आई बाढ़ पर मोदी ने किया ट्वीट, लोगो ने कसा तंजा कहा, बिहार के बारे में भी बोल दो

इसके अलावा बैडमिंटन खिलाडी सायना नेहवाल ने भी सभी जवानों के परिवारों को 50-50 हजार रूपए की आर्थिक सहायता की. अब चौकाने वाली खबर यह है की अक्षय कुमार और सायना नेहवाल के इस कदम से मओवादी बिलकुल भी खुश नही है. द एशियाई एज की खबर के मुताबिक दक्षिण बस्तर में मओवादियो ने कुछ पर्चे जारी किये है जिसमे अक्षय कुमार और सायना नेहवाल को धमकी दी गयी है.

और पढ़े -   रूस की सड़कों को भारत की बताने पर ट्रोल हुए केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल

इन पर्चो में दोनों को कड़ी चेतावनी देते हुए कहा है की CRPF के जवान मावाधिकार के दुश्मन है. इनको बस्तर में आदिवासियों के सफाए के लिए तैनात किया गया है. इसलिए हम इन जवानों के परिवार वालो की आर्थिक मदद करने वालो की कड़ी निंदा करते है. हम चेतावनी देते है की पीपुल्स लिबरेशन गुरिल्ला आर्मी (पीएलजीए) के हमलो में मारे गए जवानों के परिवारों को आर्थिक सहायता देना बंद करो नही तो इसका अंजाम अच्छा नही होगा.

और पढ़े -   गोरखपुर के बाद छत्तीसगढ़ में ऑक्सीजन की कमी ने ली 3 बच्चो की जान

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE