kamlesh1_1452575650

पैगम्बर ए इस्लाम की शान में तौहीन करने वाले कमलेश तिवारी पर से लाहाबाद हाई कोर्ट की लखनऊ खंडपीठ ने रासुका हटा दिया हैं.

तिवारी ने पिछले साल दिसंबर में मुसलमानों की धार्मिक भावनाओं के साथ खिलवाड़ करते हुए पैगम्बर ए इस्लाम हजरत मुहम्मद (सल्ल.) की शान में आपतिजनक टिप्पणी की थी. जिसके बाद उसे पुलिस ने राष्ट्रीय सुरक्षा कानून (रासुका) के तहत गिरफ्तार किया था.

और पढ़े -   युवक को मानव ढाल बनाने वाले मेजर गोगई की सेना अध्यक्ष ने की तारीफ कहा, उनको सम्मान देने से जवानों का बढेगा मनोबल

तिवारी ने पिछले साल 2 दिसंबर को एक प्रेस रिलीज में पैगम्बर ए इस्लाम के खिलाफ आपतिजनक टिप्पणी की थी जिएके बाद देश भर में विरोध प्रदर्शन शुरू हो गए थे.

कमलेश तिवारी की वजह से समाज फैले सांप्रदायिक तनाव की वजह से फरवरी में यूपी सरकार ने तिवारी के खिलाफ रासुका लगा दिया था.


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE