मॉब लिंचिंग की घटनाओं में जिस तरह तेज़ी बढ़ रही है उससे देश का बुद्धिजीवी वर्ग ख़ासा चिंतित है. दुनिया भर में देश की हो रही बदनामी के बाद भी इस तरह के हमले कम होने का नाम नही ले रहा है, जिन लोगो को भीड़ पीट पीट कर मार रही है उनमे अधिकतर मुस्लिम और दलित है हालाँकि इस तरह की घटनाओं का इतिहास भारत के लिए नया नही है अतीत में भी भारत में दबंग जाति के लोगो द्वारा गरीबो, दलितों और पिछड़ों पर आतंक का भरपूर साया रहा है. ध्रीरे धीरे इस तरह की घटनाओं के लिए देश का युवा वर्ग आवाज़ उठाने लगा है.

रविवार 30 जुलाई को दिल्ली से हरियाणा के मेवात तक मोटर साइकिल रैली का आयोजन किया गया. इस रैली का मकसद मॉब लिंचिंग की घटनाओं का विरोध करना था. रैली का समापन मेवात में हुआ क्यों की यहाँ मॉब लिंचिंग की काफी घटनाये सामने आ चुकी है.

और पढ़े -   कभी तीन तलाक के बचाव में दलील देने वाला मुस्लिम पर्सनल बोर्ड, सुप्रीम कोर्ट के फैसले पर हुआ दो फाड़

रैली को हरी झंडी दिखाए जाने से पहले स्वामी अग्निवेश ने युवाओं को संबोधित किया। इस दौरान उन्होंने लोगों से राजनीतिक भावनाओं से ऊपर उठने की अपील की और कहा, ‘लिंचिंग की घटनाओं का इस्तेमाल ध्रुवीकरण के लिए किया जा रहा है’।

इस मौके पर स्वराज अभियान के प्रमुख योगेंद्र यादव ने कहा कि कुछ लोगों के सियासी फायदे कि लिए देश की धर्मनिरपेक्षता को नष्ट करने की इजाज़त नहीं दी जानी चाहिए।

मंडी हाउस दिल्ली से नूह मेवात तक बाइक रैली भी एक सफल सांकेतिक आयोजन के लिए याद रहेगी, दिल्ली से बाइक रैली को जनाब अली अनवर अंसारी,मनोज झा,योगेंद्र यादव, स्वामी अग्निवेश,पंकज पुष्कर,अनिल चमड़िया,जॉर्ज थॉमस,गोहर रज़ा, आदित्य निगम,हर्षमंदर,निवेदिता मेनन आदि ने नेशनल फ्लेग के साथ ठीक 11 बजे मेवात के लिए रवाना किया, बाइक रैली 150 बाइकर्स के साथ मंडी हाउस से इंडिया गेट,मेडिकल,IIT, महरौली,छतरपुर,अर्जुन गढ़,गुड़गांव,बादशाहपुर,सोहना होते हुए IMT रोजका मेव पहुची.

और पढ़े -   सरकार लगाने जा रही है एक से अधिक बार हज पर रोक

इससे पहले गुड़गांव में स्वराज अभियान के साथियो ने मनीष मक्कड़ ओर सोहना में JC यादव के नेतृत्व में रैली का स्वागत किया, IMT रोजका में मेवात के 200 बाइकर्स ने रैली का स्वागत किया और बड़ी बाइक रैली का काफिला, रेवासन, घासेड़ा, फिरोजपुर नमक, नूह शहर होता हुआ अनाज मंडी नूह मेवात हरियाणा पहुचा, जहाँ पर एक जन सभा का आयोजन किया गया, जिसको बनारस से आये सोमनाथ त्रिपाठी, कॉमरेड दलीप सिंह,उमर खालिद,मीरान हैदर,खालिद सैफी, नवेद चौधरी, ओवश सुल्तान,मनीषा भल्ला,स्माइल खान, वसीम अकरम त्यागी, इनमुरहमन,रजत आदि ने संबोधित किया, निज़ामत नदीम खान और रमज़ान चौधरी ने की तथा मेव पंचायत अलवर के सदर शेर मोहम्मद ने सभा का धन्यवाद किया.

इस आयोजन में साकिर सलाहेड़ी ,वाहिद सालाहेड़ी,शोकत खवाज़लीका,इमरान चीकू,शाहिद हुसैन,अल्ताफ ,वसीम साकरस, नसीर रहपुआ,रोहित रैसिक,अनीस महरौला,मोहम्मद शाद सेवका, शकील पिनगवां,नसीम रिठाठ, शकील उमरी,साज़िद मलाई,अज़्ज़ु अड़बेर, हसीन नमक, साबिर नूह,यूसुफ रायपुर,आशिक नंगली,मेव पंचायत अलवर ओर मेवात युवा संगठन की टीमो का विशेष योगदान रहा, कुछ साथियो का नाम रह गया है वो नीचे लिख दे, में ऊपर लिख दूंगा,जिनकी सक्रिय भूमिका रही हो, अब्दुल हमीद हिरमथला की तरफ से खाने के इंतज़ाम में 10 हज़ार रुपये का योगदान दिया,उसका बहुत बहुत शुक्रया, संघ के दबाव में पूरे पत्रकारों ने प्रोग्राम का बहिष्कार किया,उनका भी शुक्रया, प्रोग्राम से एक संदेश देने में कामयाबी मिली कि आज भी लोग नफरत के बजाए मोहबत से जीना पसंद करते है, ओर खामोश मुल्क में कुछ आवाज़े आज भी जिंदा है जो ज़ुल्म ओर ज्यादती के खिलाफ उठती है। मेवात क्रांति की धरती है यहां से जो आवाज़ उठती है, दूर तक जाती है, शहादत ओर देशभक्ति की धरती मेवात से शुरू ये मुहिम देश भर में प्यार मोहब्बत ओर अमन भाईचारे का पैगाम देगी और नफरतो को खत्म करने में अहम रोल अदा करेगी, ऐसा इस आयोजन का संदेश है

और पढ़े -   ट्रिपल तलाक असंवैधानिक नहीं, यह मुस्लिम कानून का अहम् हिस्सा: चीफ जस्टिस खेहर

 


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE