गुजरात उच्च न्यायालय से जमानत मिलने के बाद पटेल आरक्षण आंदोलन के नेता हार्दिक पटेल नौ महीने बाद आज लाजपोर जेल से बाहर आए और आंदोलन जारी रखने का संकल्प दोहराते हुए कहा कि उन्हें 56 इंच का सीना नहीं, बल्कि अपने समुदाय के लिए अधिकार चाहिए. हार्दिक ने कहा कि अब मैं पूरे देश में घूम घूमकर कुर्मी समाज को एकजुट करूंगा.

और पढ़े -   पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी के हत्यारे ने लगाई इच्छा मृत्यु की गुहार

हार्दिक पटेल के जेल से रिहा होते ही जोरदार स्वागत किया गया. इसके बाद हार्दिक ने सूरत में रोड शो किया. हार्दिक ने कहा, मैं यह कहना चाहता हूं कि मुझे ऊंचाई, वजन या 56 इंच का सीना नहीं चाहिए. मुझे तो अपने समुदाय के लिए अधिकार चाहिए. हार्दिक ने कहा, आने वाले दिनों में हमारा आंदोलन जारी रहेगा. पटेल समुदाय के लिए ओबीसी दर्जे की हमारी मांग कायम है. आने वाले दिनों में हमारे काम करने के तरीके में बदलाव आएगा लेकिन हमारे तेवर ऐसे ही बने रहेंगे.

और पढ़े -   पाक की जीत पर पटाखे फोड़ने वालो को पाकिस्तान चले जाना चाहिए: अल्पसंख्यक आयोग प्रमुख

हाईकोर्ट के फैसले के मुताबिक, उन्हें 6 महीने गुजरात से बाहर रहना होगा. जेल से बाहर आने के बाद हार्दिक 6 महीने के लिए अपना बेस उत्तर प्रदेश शिफ्ट कर सकते हैं. ऐसा इसलिए क्‍योंकि वो उत्‍तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में भाजपा के खिलाफ प्रचार कर सकें.

गौरतलब है कि कुछ दिनों पहले ही हार्दिक को गुजरात उच्च न्यायालय ने देशद्रोह और हिंसा के मामले में जमानत दे दी थी.

और पढ़े -   एनडीए के राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार रामनाथ कोविंद भी नहीं रहे विवादों से अछूते, कुमार विश्वास ने भी उठाये सवाल

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE