naqvi

अल्पसंख्यक मामलों के केंद्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने लोकसभा में पिछले दो सालों में अल्पसंख्यक समुदाय के लोगों को मिली सरकारी नौकरी के बारे में जानकारी देते हुए कहा कि मार्च 2016 तक, दो साल के मोदी सरकार के कार्यकाल में 9.2 लाख अल्पसंख्यकों को सरकारी नौकरी दी गई है.

लोकसभा में एक प्रश्न के लिखित उत्तर देते हुए नकवी ने कहा कि 31 मार्च 2016 तक, अल्पसंख्यक समुदाय के 9,20,641 लोगों को 16 केंद्रीय मंत्रालयों, विभागों में ए, बी, सी और डी समूहों में भर्ती किया गया है. उन्होंने आगे बताया कि इनमें से 14,644 लोगों को 2015-16 में भर्ती किया गया था.

और पढ़े -   कोलकाता बना कश्मीर, पुलिस बलों के साथ वामपंथियों की मारपीट और पत्थरबाजी

नकवी के अनुसार, ‘‘केंद्र सरकार में अल्पसंख्यकों की भर्ती के आंकड़े अल्पसंख्यकों के प्रतिनिधित्व में क्रमिक बढ़ोतरी दर्शाते हैं. 2011-12 में यह वृद्धि 6.24 प्रतिशत थी जो 2014-15 में 8.56 प्रतिशत :79 केंद्रीय मंत्रालयों-विभागों के लिए: हो गयी.’’

गौरतलब रहें कि देश में मुस्लिम, ईसाई, सिख, बौद्ध, पारसी और जैन को अल्पसंख्यक समुदाय होने का दर्जा प्राप्त हैं. जिनमे सबसे ज्यादा आबादी और पिछड़ा हुआ मुस्लिम समुदाय हैं.

और पढ़े -   शशि थरूर ने अर्नब गोस्वामी पर ठोका मानहानि का मुकदमा, पत्नी की मौत पर आपत्तिजनक टिपण्णी करने का आरोप

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE