छह दिनों के भारत दौरे पर आए नेपाल के पीएम के. पी. शर्मा ओली ने कई समझौतो पर हस्ताक्षर किए। उन्होंने कहा कि वे नेपाल और भारत के बीच बने मतभेदों को दूर करने के मकसद से यहां आए हैं।

बता दें कि ओली का बतौर पीएम यह पहला विदेशी दौरा है। वहीं 2011 के बाद यह पहली बार है जब कोई नेपाली पीएम भारत के दौरे पर है। इस दौरे पर नेपाल और भारत के बीच 9 करार हुए। व्यापार की सुगमता के लिए दोनों देशों के बीच ट्रांसपोर्ट कॉरिडोर और हाईवे बनाए जाएंगे। वहीं भारत नेपाल को अगले दो साल में 80 मेगावाट बिजली देगा।

और पढ़े -   अमित शाह को जेल पहुँचाना मेरी जिंदगी की सबसे बड़ी उपलब्धि: राणा अय्यूब

भारत के खिलाफ नहीं होगा नेपाली धरती का इस्तेमाल
दोनों देशों के बीच आर्ट और कल्चर के क्षेत्र में भी कई करार हुए। इधर, नेपाली पीएम ने कहा कि वे अपनी धरती का इस्तेमाल भारत के खिलाफ नहीं होने देंगे। पीएम मोदी ने भी नेपाल में इकोनॉमिक डेवलपमेंट के लिए मदद देने की बात कही। उन्होंने कहा कि नेपाल शांति और विकास के रास्ते पर चले इसके लिए हम हमेशा साथ देंगे। (News24)

और पढ़े -   डॉ कफील अहमद को रेपिस्ट बताने वाले का परेश रावल ने किया समर्थन, बरखा दत्त को बताया दीमक

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE