जींद | देश में पिछले 70 सालो से व्यापत हिन्दू मुस्लिम भाईचारा , आजकल कुछ डोलता सा दिख रहा है. आये दिन ऐसी घटनाये हो रही जिसके बाद दोनों समुदाय के बीच बड़ी खाई बनती जा रही है. मुस्लिमो को गाय का हत्यारा और पाकिस्तान परस्त बताकर प्रचारित करने वाले लोग इस माहौल का भरपूर फायदा उठा रहे है. वोट बटोरने की खातिर दो समुदायो को आपस में लड़ाया जा रहा है और वो लड़ भी रहे है.

हरियाणा में पिछले एक हफ्ते में इस तरह की कई घटनाये हुई है जो हिन्दू मुस्लिम के भाईचारे को चोट पहुँचाने के लिए काफी है. पहले बल्लभगढ़ का जुनैद इस सम्प्रदायिकता की भेंट चढ़ गया और दो दिन पहले एक मस्जिद के इमाम को बेरहमी से पीटा गया. लेकिन अपना उल्लू सीधा करने वाले यहाँ कहाँ रुकेंगे , वो चाहते है की इस तरह की घटनाये होती रहे. इसलिए हिन्दुओ को मुस्लिमो के प्रति भड़काते रहे .

और पढ़े -   वाराणसी के बीएचयु अस्पताल में मरीज को ऑक्सीजन की जगह दी दूसरी गैस, हुई मौत, ऑक्सीजन सप्लाई करने का ठेका बीजेपी विधायक की कंपनी को

इसी मकसद को पूरा करने के लिए हरियाणा के ही जींद में एक निर्माणाधीन मंदिर में 786 लिखे झंडे लगा दिए गए. मालूम हो की नम्बर 786 को मुस्लिम समुदाय से जुड़ा हुआ माना जाता है. इस तरह एक मुस्लिम प्रतीक को मंदिर में लगाने का मकसद केवल दोनों समुदाय के बीच नफरत को और बढ़ावा देना है. इसलिए इस तरह की हरकत की गयी. हालाँकि कुछ लोग इसे अंचरा खुर्द मस्जिद पर हुए हमले से भी जोड़ कर देख रहे है.

और पढ़े -   साध्वी रेप मामले में डेरा प्रमुख राम रहीम पर 25 को आएगा फैसला, डेरा प्रेमियों ने इकठ्ठा करने शुरू किये धारधार हथियार, पूरा हरियाणा छावनी में तब्दील

दरससल रविवार को अंचरा मस्जिद के इमाम और कुछ अन्य लोगो पर भीड़ ने हमला बोल दिया. इस हमले में जहाँ इमाम को बुरी तरह पीटा गया वही कई और लोगो को भी काफी चोटे आई है. पुलिस के अनुसार इस हमले में तीन लोग बुरी तरह घायल हुए है. पुलिस अधीक्षक शशांक आनंद ने बताया की वो रविवार को ही पुलिस बल के साथ घटनास्थल पर पहुँच गए थे. हमने देर रात तक स्थिति को नियंत्रण में करने का प्रयास किया. फ़िलहाल वहां की स्थित सामान्य बनी हुई है.

और पढ़े -   भारत में रह रहे रोहिंग्या मुस्लिम बोले - हमें मार दो लेकिन म्यांमार मत भेजों

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE