ज्ञानदेव आहुजा ने बयान के समर्थन में दिल्‍ली महिला आयोग की रिपोर्ट का हवाला दिया।

जेएनयू में रोजाना 3000 कंडोम मिलने का बयान देने वाले भाजपा विधायक ज्ञानदेव आहुजा ने एक बार फिर से विवादित बयान दिया है। आहुजा ने कहा कि दिल्‍ली में 50 प्रतिशत रेप और छेड़छाड़ के अपराध जेएनयू के छात्र करते हैं। एक अंग्रेजी अखबार से बात करते हुए उन्‍होंने यह बयान दिया। आहुजा ने बयान के समर्थन में दिल्‍ली महिला आयोग की रिपोर्ट का हवाला दिया।

इससे पहले आहुजा ने कहा था कि जेएनयू में रोजाना सिगरेट के 10,000 और बीड़ी के 4,000 जले हुए टुकड़े मिलते हैं। हड्डियों के छोटे-बड़े 50,000 टुकड़े, चिप्स-नमकीन के 2,000 पैकेट और 3,000 इस्तेमाल किए हुए कंडोम। वहां वे हमारी बहनों और बेटियों के साथ गलत करते हैं। वहां गर्भनिरोध के इस्तेमाल किए हुए 500 इंजेक्शन भी मिले हैं। उनके इस बयान का मजाक उड़ा था। इस बारे में उन्‍होंने कहा, ‘लोगों ने बिना परिस्थिति जाने मेरी पढ़ाई का मजाक उड़ाया। मैंने सूत्र से मिली जानकारी के आधार पर यह बात कही थी।’

अलवर के रामगढ़ असेंबली सीट से चुने गए ज्ञानदेव अपने छात्र जीवन में अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद् के भी सदस्‍य रह चुके हैं। एक अक्‍टूबर 1950 को राजस्‍थान के ब्‍यावर शहर में जन्‍मे आहुजा 12वीं तक पढ़े हैं। पूर्व में वे पत्रकार भी रह चुके हैं। फिलहाल बंद हो चुके साप्‍ता‍हिक ‘मत सम्‍मत’ के वे मैनेजिंग एडिटर रहे हैं। (Jansatta)


लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

कमेंट ज़रूर करें