नई दिल्ली | मोदी सरकार के मंत्रिमंडल में होने वाले संभावित बड़े फेरबदल को देखते हुए शुक्रवार को 5 मंत्रियो ने इस्तीफा दे दिया. माना जा रहा है की रविवार को प्रधानमंत्री मोदी अपने मंत्रिमंडल का विस्तार कर सकते है. इसके अलावा कुछ मंत्रियो के विभाग में भी फेरबदल किये जाने की खबर है. सूत्रों के अनुसार सुरेश प्रभु से रेल मंत्रालय लेकर पर्यावरण मंत्रालय का प्रभार सौपा जा सकता है. वही एनडीए में नए नए शामिल हुए जेडीयु को मंत्रिमंडल में जगह मिल सकती है.

इस्तीफा देने वालो में कौशल विकास मंत्री राजीव प्रताप रुढी, स्वास्थ्य राज्य मंत्री फग्गन सिंह कुलस्ते , कृषि राज्य मंत्री संजीव बालियान , मानव संसाधन राज्य मंत्री महेंद्र नाथ पाण्डेय ने इस्तीफा दे दिया. उधर जल संसाधन मंत्री उमा भारती ने भी स्वास्थ्य कारणों का हवाला देकर इस्तीफा देने की पेशकश की है. हालाँकि जानकारों का कहना है की परफोर्मेंस के आधार पर कुछ मंत्रियो को इस्तीफा देने के लिए कहा गया है.

और पढ़े -   बुलेट ट्रेन को लेकर आशुतोष राणा का तंज कहा, उधार की 'चुपड़ी' रोटी से अच्छी श्रम से अर्जित की गयी 'सुखी' रोटी

इनमे से महेंद्र नाथ पाण्डेय , उत्तर प्रदेश के पार्टी अध्यक्ष बनाये जाने की वजह से मंत्री पद छोड़ रहे है. उधर खबर है की नितिन गडकरी को रेल मंत्रालय सौपा जा सकता है. वही सुरेश प्रभु को पर्यावरण मंत्री बनाया जा सकता है. वो अटल बिहारी वाजपेयी सरकार में भी यह जिम्मेदारी निभा चुके है. उधर जेडीयु से भी दो सांसदों को मंत्रिमंडल में जगह दी जा रही है. इनमे राम चंद्र प्रसाद सिंह और पूर्णिया से सांसद संतोष कुशवाहा को मंत्री बनाए जाने की अटकले हैं.

और पढ़े -   हार्दिक पटेल की पटेल समुदाय से अपील कहा, बीजेपी को वोट मत देना चाहे मेरे पिता भी कहे

दरअसल गुरुवार को प्रधानमंत्री मोदी और बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह के बीच काफी देर तक बैठक चली. मिली जानकारी के अनुसार इस बैठक में आगामी लोकसभा चुनावो को देखते हुए मंत्रिमंडल में फेरबदल करने को लेकर मंथन किया गया. माना जा रहा है की आगामी लोकसभा चुनावो को देखते हुए मोदी सरकार उन राज्यों पर ज्यादा फोकस करना चाहती है जहाँ अभी विधानसभा चुनाव होने है. इसलिए इन राज्यों में से कुछ मंत्री बनाये जाने की सम्भावना है.

और पढ़े -   पहलु खान को श्रदांजलि देने को लेकर मुस्लिम समुदाय और हिन्दू संगठन आये आमने सामने, पुलिस की मुस्तैदी से टली बड़ी घटना

इसके अलावा कुछ ऐसे विभाग भी है जिनका अतिरिक्त कार्यभार दुसरे मंत्रियो को दिया गया है. इनमे सुचना प्रसारण मंत्रालय, शहरी विकास मंत्रालय , रक्षा मंत्रालय और पर्यावरण मंत्रालय शामिल है. इनमे शहरी विकास मंत्रालय , वैंकया नायडू के उपराष्ट्रपति बनने के बाद खाली हुआ था. फ़िलहाल खबर है की अनंत कुमार को यह जिम्मेदारी सौपी जा सकती है.


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE