लुधियाना की दसवीं की छात्रा ने जमानत पर रिहा हुए जेएनयू छात्र संघ अध्यक्ष कन्हैया कुमार को खुली बहस की चुनौती दी है। एनजीओ रक्षा ज्योति फाउंडेशन की सक्रिय युवा सदस्य और डीएवी स्कूल की 15 साल जाह्नवी बहल ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के खिलाफ दिए गए कन्हैया के भाषणों की कड़ी निंदा की है। जाह्नवी ने कहा कि वह किसी भी समय कन्हैया कुमार से इस विषय पर वाद-विवाद करने के लिए तैयार हैं।

Jahnvi Bahl

जाह्नवी बहल ने कहा कि कन्हैया कुमार को पीएम मोदी के बारे में अपशब्दों का प्रयोग नहीं करना चाहिए। प्रधानमंत्री देश का प्रतिनिधित्व करते हैं। यदि उनको ही अपमानित किया जाने लगा तो देश की साख पर बुरा असर पड़ेगा। कन्हैया कुमार राजनीति से प्रेरित होकर इस प्रकार की बयानबाजी कर रहे हैं।

उन्होंने कहा कि जेएनयू का एक विशेष स्थान है, लेकिन कुछ लोग अपनी राजनीति को चमकाने के लिए युवा वर्ग को भ्रमित कर माहौल बिगाडऩे की कोशिश कर रहे हैं। हर व्यक्ति को भारत के संविधान द्वारा विशेष मौलिक अधिकार दिए गए हैं। वह कन्हैया कुमार से वाद विवाद करने के लिए तैयार हैं, ताकि वह सीधे तौर पर कन्हैया कुमार द्वारा देश विरोधी टिप्पणियों का जवाब दे सकें।

क्या कहा था कन्हैया कुमार ने

तिहाड़ जेल से रिहा होने क बाद गुरुवार को कन्हैया कुमार ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर जमकर निशाना साधा था। कन्हैया ने कहा था कि आज मोदी जी जब संसद में बोल रहे थे, तो मेरा मन किया कि मैं टीवी में घुस जांऊ। मोदी जी का सूट पकड़ कर कहूं, जरा हिटलर की बात कर दीजिए। छोड़ दीजिए हिटलर को, मुसोलिनी की बात कर दीजिए। कन्हैया ने पीएम पर निशाना साधते हुए कहा था कि कुछ को आपने हर-हर कहकर ठग लिया, कुछ आज अरहर से परेशान हैं।

देखें इस बालिका का कन्हैया को चैलेंज का वीडियो:


लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

Facebook Comment

Related Posts

loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें