arun1

केंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली ने इकनॉमिक एडिटर्स कॉन्फ्रेंस को संबोधित करते हुए नोट बैन पर कहा कि  ‘500 और 1000 रुपये के पुराने नोटों को बदलने के मामले में लोगों को अनावश्यबक जल्दनबाजी करने या परेशान होने की जरूरत नहीं है.’

उन्होंने आगे कहा,  आम लोगों को बेफिक्र करते हुए कहा कि उन्हें डरने की जरूरत नहीं है, जिनके पास बेशुमार मात्रा में अघोषित धन है, सिर्फ उन्हें ही कानून का सामना करना पड़ेगा. इसके साथ ही उन्होंने ब्लैकमनी को गोल्ड में कन्वर्ट करने को लेकर कहा कि  जो गोल्ड बेचने वाले हैं, उनकी भी जिम्मेादारी है. पैन कार्ड जरूरी है. उनसे भी पूछा जाएगा कि गोल्ड किसको बेचा गया हैं?

और पढ़े -   गोरखपुर के एडीएम के तार ISI जुड़े होने का संदेह , एटीएस करेगी पूछताछ

वहीँ इकोनॉमिक अफेयर्स सेक्रेटरी शक्तिकांत दास ने कहा है कि अगले कुछ महीनों में नए कलर और डिजाइन में 1000 रुपए के नए नोट जारी किए जाएंगे. दास ने ये भी कहा कि बाद में 50 और 100 रुपए के नोट में भी बदलाव किए जाएंगे.

दास ने बताया, नए डिजाइन, फीचर्स और कलर में एक हजार के नोटों को दोबारा से शुरू किया जाएगा. अगले कुछ महीनों में ये काम पूरा हो जाएगा।.आरबीआई के दो से तीन लोग 1000 रुपए के नोट की डिजाइन के काम में लगे हुए हैं.

और पढ़े -   शिवराज में जंगलराज, बंधुआ मजदूरी से मना करने पर दलित महिला की काटी गयी नाक

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE