jakiir 87

इस्लाम धर्म आत्महत्या करने को हराम ठहराता है और कहता है की जिस किसी ने एक इन्सान का क़त्ल किया मानो उसने पूरी इंसानियत को कत्ल किया लेकिन जाकिर नाइक ने आज सुसाइड ब्लास्ट को जायज ठहराया हैं.

सऊदी अरब के मदीना से विडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए मीडिया को सबोधित करते हुए कहा कि वह सभी तरह की आतंकी गतिविधियों की निंदा करते हैं. साथ ही दावा किया कि उनके बयानों को तोड़-मरोड़कर पेश किया गया है. उन्होंने खुद पर लगे इससे संबंधित आरोपों को झूठा करार दिया.

जाकिर नाईक ने स्पष्ट कहा कि देशहित में फिदाईन हमले सही हैं, लेकिन मैं आतंकवादी हमलों की निंदा करता हूं. जाकिर ने इस्लाम में आत्मघाती हमलें को एक तरफ हराम बताया है. लेकिन उन्होंने कहा कि युद्ध में आत्मघाती हमला जायज है. देशहित में आत्मघाती हमले जायज है. जाकिर ने कहा कि जान बचाने के लिए शराब पीना भी जायज है.


लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

कमेंट ज़रूर करें