ya

10 मुहर्रम को शहीदाने करबाला को खिराज ए अकीदत पेश करते हुए ईरान के एक पर्वतारोही ने हजरत इमाम हुसैन (रजि.) की याद में उनके नाम ए पाक लिखा हुआ परचम यूरोप की सबसे ऊंची चोटी पर फहराया.

यासिर सुतूदे ने यूरोप और रूस की सबसे ऊंची चोटी एलब्रूस को पार करके वहां हजरत इमाम हुसैन का परचम फहरा दिया. इस दौरान उन्होंने 5642 मीटर की ऊंचाई तय की. और काॅकेशिया के क्षेत्र में जाॅर्जिया की सीमा पर और रूस के उत्तर में स्थित पहाड़ की चोटी पर फ़तेह हासिल कर ‘या हुसैन’ लिखा परचम फहराया.

और पढ़े -   जब सिख युवकों ने अपनी जान पर खेलकर मस्जिद और क़ुरान की हिफाज़त की

गौरतलब रहें कि यह चोटी पूरे साल बर्फ़ से ढंकी रहती है और पर्वतारोहियों के लिए इसे पार कर पाना बहुत कठिन होता है. यहाँ पर तापमान शून्य से साठ डिग्री नीचे तक पहुंच जाता है.

उन्होंने मुहब्बत ए हुसैन में शून्य से तीस डिग्री नीचे के तापमान की परवाह न करते हुए इस कारनामें को अंजाम दिया. उन्होंने अपनी इस सफलता को इस्लामी क्रांति के वरिष्ठ नेता आयतुल्लाहिल उज़मा सैयद अली ख़ामेनेई को समर्पित की है.

और पढ़े -   हज पर जाने वाले साथ ना लेकर जाएँ 2000 रुपए का नोट

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE