जैसे ही 500 और 100 रुपए के नोट बंद होने की खबर आई है उससे ही देशभर अफरा तफरी मची है लोगो की समझ में नही आ रहा की क्या करें सोशल मीडिया, फेसबुक ट्विटर पर वो लोग तो खुशियाँ मना रहे है जो हजारों में कमाते है लेकिन उनसे उपर वाले तबके पर अचानक से मायूसी के बदल मंडरा गये है.

प्रधानमंत्री मोदी के 9 बजे के भाषण के बाद जिस तेज़ी से काले धन के खात्मे को लेकर बजार गर्म हुआ है उसी शोर में कुछ ऐसी बातें दब गयी है जो इन दो दिन होनी थी.

मिसाल के तौर पर जब प्रधानमंत्री जी ने यह उद्घोष तो कर दिया की आज रात से नोट बंद हो जायेंगे और अगले दो दिनों तक बैंकों के एटीएम भी बंद रहेंगे तब ऐसा कौन सा दूकानदार होगा तो 500 और 1000 के नोट लेकर सामान देना चाहेगा, ऐसे में सोचिये किसी के घर लड़की की शादी हो और बरात आने वाली हो उन्हें घर का सामान, खाने की व्यवस्था, मेहमानदारी आदि सबके लिए पैसा ही चाहिए लेकिन उनके पास जो बड़े नोट थे वो अगले दो दिनों तक रद्दी बन जायेंगे.

और पढ़े -   देश के 800 शहरों में निकाला गया अमन मार्च, मीडिया से खबर गायब

मिसाल के तौर पर अगर घर का कोई मरीज़ प्राइवेट अस्पताल में हो और आज या कल डिस्चार्ज होने वाला हो तो क्या बैंक/एटीएम/नोट बंद  होने के कारण उसे दो दिन और अस्पताल में गुज़ारने होंगे क्यों की 11 नवम्बर तक बड़े नोट सिर्फ सरकारी अस्पतालों में चलेंगे.

मिसाल के तौर पर कोई विदेशी पर्यटक 10 नवम्बर को भारतदर्शन के लिए पहुँचता है जो उसे कौन करेंसी कन्वर्ट करके देगा और अगर उसे करेंसी मिल भी जाती है तो मार्किट में चलाएगा कैसे ?

और पढ़े -   देश के 800 शहरों में निकाला गया अमन मार्च, मीडिया से खबर गायब

मिसाल के तौर पर उन छोटे उद्योगों में जहाँ नोट लगाकर नोट बनाये जाते है उनका क्या होगा, जैसे दुल्हे को पहनाये जाने वाले नोटों के हार, क्या वो इतनी जल्दी दोबारा से वापस हो सकते है ?

मिसाल के तौर पर कोई नव विवाहित जोड़ा किसी दुसरे प्रदेश में घुमने गया हो और उनके पास पैसे नकद ना होकर एटीएम में हो तब उनके साथ क्या होगा ?

और पढ़े -   देश के 800 शहरों में निकाला गया अमन मार्च, मीडिया से खबर गायब

मिसाल के तौर पर कोई परिवार अपनी चौपहिया गाडी से आज रात सफ़र के लिए नकदी लेकर निकला हो और रस्ते में उसे पेट्रोल डलवाना हो ..?

मिसाल के तौर पर आज ही किसी ने बैंक से नकदी निकाली हो और कल उसे वो पेमेंट देकर कोई प्रॉपर्टी/गाड़ी/ खरीदनी हो तो वो क्या करेगा ?

बहुत से छोटे व्यापारों में तनखाह नगद दी जाती है जिन लोगो को आज सैलरी मिली है वो अगले दो दिनों तक पैसा होने के बाद भी क्या करेंगे.?

और भी बहुत सी ऐसी छोटी छोटी बातें है जो नोटों के अचानक से बंद हो जाने से देश की जनता को परेशानी का सामना करना पड़ेगा.


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE