आज जिस चौकाने वाली बात पर हम विमर्श करने जा रहे है उससे पहले बताते चले की आधुनिकता समय की देन है लेकिन पश्चात्य संस्कृति सिर्फ रेप को बढ़ावा देती है, टॉप 10 देशों में उन देशों के नाम यह साबित करते है की आधुनिकता के लबादे में उन्होंने महिलाओं को कुछ अधिकार दिए लेकिन पुरुषवादी समाज उनपर हावी कर दिया गया, बलात्कार जितना घिनौना भारत में माना जाता है उतना ही विश्व के अन्य देशों में भी माना जाता है कुछ देशों में रेप में बेहद कड़ी सज़ा का प्रावधान भी है लेकिन सवाल यह उठता है की क्या कानून में कड़ी सज़ा के प्रावधान से ही रेप होने रुक जायेंगे या उस सज़ा को तुरंत देकर बलात्कारियों के मन में डर पैदा किया जा सकता है.

खबर के टाइटल के सन्दर्भ में – आमतौर पर इस तरह की खबर जब भी बनायीं जाती है तब उसका शीर्षक कुछ ऐसा होता है, यह है टॉप 10 देश जहाँ होते है सबसे अधिक बलात्कार, रेप से पीड़ित टॉप देशों की सूची,  इन शीर्षकों को ध्यान से पढेंगे तो पाएंगे की रेप की मानसिकता खुद इसी तरह के शीर्षकों में छुपी है जहाँ बहुत आसानी से कह दिया जाता है की इन देशों में रेप होते है, साहब, रेप होते नही किये जाते है वो भी जबरन, और, रेप हो गये से मुराद क्या है .. क्या रेप कोई बारिश है जो हो गयी .. जनाब आप यह क्यों नही लिखते है की इन देशों में सबसे अधिक बलात्कारी रहते है, भारत का दिल्ली है सबसे अधिक पढ़े लिखे बलात्कारियों का शहर, जहाँ डिग्री याफ्ता बलात्कारी गाड़ियों में घुमते है”. जानते है ऐसे शीर्षक आपको कभी पढने को नही मिलेंगे क्योंकी बलात्कारी मानसिकता ज़रूरी नही खेतों में, सूनसान जगहों पर घूमे, वो कलम की आड़ में भी छुपी हो सकती है.

फ्रांस से लेकर यूनाइटेड किंगडम और कनाडा से लेकर भारत तक उन देशों में आते है जहाँ सबसे अधिक रेप किये जाते है, सबसे कमाल की बात यह है की इन टॉप 8 देशों में कोई भी मुस्लिम राष्ट्र नही है यहाँ तक की वो राष्ट्र भी नही जो आतंकवाद से जूझ रहे है.

स्वीडन

स्वीडन के हलात इतने बुरे है की यहाँ हर 4 में से 1 महिला रेप पीड़ित होती है, पीड़ित महिलाए अधिकतर 11 से 25 वर्ष के बीच होती है जिनके साथ पड़ोसियों, रिश्तेदारों ने रेप किया होता है. 1975 में यहां रेप के 421 केस दर्ज हुए थे जबकि 2016 में ये आंकड़ा 6,700 हो गया। नेशनल काउंसिल फॉर क्राइम प्रिवेंशन द्वारा जारी रिपोर्ट्स के मुताबिक, 3 में से 1 स्वीडिश महिला टीनएज से पहले ही रेप की शिकार हो जाती है।

अमेरिका

दुनिया के सबसे विकसित देशो में से एक अमेरिका महिलाओं से बलात्कार की घटनाओं में भी अव्वल है।  यहाँ होने वाली बलात्कार की घटनाओं में 10% अपराध पुरुषो के साथ होते है यानी यहाँ बलात्कार करने में महिलायें भी पीछे नहीं है। अमेरिका में हर 6 में से 1 महिला और 33 में से एक पुरुष ने अपने जीवन में यौन हिंसा का सामना किया हुआ है। अमेरिका में अधिकतर रेप की घटनाएं घरो में ही होती है।

ब्रिटेन

खुद को खुले विचारों का देश कहने वाले ब्रिटेन में भी महिलाओं के लिए दम घोटू वातावरण है। ब्रिटेन को दुनिया के सबसे विकसित और साथ ही सबसे अधिक बलात्कार की घटनाओं वाले देश के रूप में भी गिना जाता है। इंग्लैंड और वेल्स में हर साल औसतन 90 हजार महिलाओं से बलात्कार होता है। हर 5 में से एक महिला को अपने जीवन में यौन हिंसा का सामना करना पड़ता है।

इंडिया

नेशनल क्राइम रिकॉर्ड ब्यूरो के मुताबिक, 2015 के मुकाबले 2016 में रेप केसेस के मामले में 30 प्रतिशत की बढ़ोतरी हुई थी। रेप विक्टिम्स में ज्यादातर 18 से 30 साल की महिलाएं शामिल होती हैं। 3 में से 1 विक्टिम 18 से कम उम्र की जबकि 10 में 1 की उम्र 14 से कम होती है। यहां हर 20 मिनट में एक महिला बलात्कार का शिकार होती है। रिपोर्ट्स के मुताबिक इंडिया में सबसे ज्यादा रेप केसेस कैपिटल सिटी न्यू दिल्ली में होते हैं। हर दिन यहां 93 महिलाएं रेप का शिकार होती हैं।

कनाडा

कनाडा कहने को विकसित देश है पर यहाँ पर कुल महिलाओं की 6% जनसँख्या किसी न किसी रूप में यौन हिंसा झेल चुकी है। कनाडा में 20 लाख से अधिक महिलायें ऐसी है जिन्होंने अपने जीवन में बलात्कार के दंश को झेला है। कनाडा में हर 17 में से एक महिला के साथ रेप होता है जिसमे से 11% जघन्य अपराध होते है।

न्यूजीलैंड

ब्रिटिश मेडिकल जर्नल द लांसेट के मुताबिक न्यूजीलैंड में सेक्शुअल असाल्ट का जो रेट है, वो पूरी दुनिया के एवरेज से काफी ज्यादा है। मिनिस्टर ऑफ जस्टिस पब्लिकेशन रिपोर्ट के मुताबिक, हर 2 घंटे में सेक्शुअल वायलेंस की एक घटना सामने आती है। जारी रिपोर्ट में ये भी सामने आया है कि 3 में 1 लड़की और 6 में 1 लड़का सेक्शुअली एब्यूज किया जाता है।

फ्रांस

खुद को विकसित देश कहने वाले फ्रांस में भी महिलाओं की स्थिति बदतर है। वहां पर 1980 से पहले बलात्कार को अपराध की श्रेणी में ही नहीं माना जाता था। फ्रांस में 35 लाख महिलाओं के साथ रेप और यौन हिंसा की घटनाएं हो चुकी है। जिस कारण फ्रांस दुनिया के सबसे अधिक बलात्कार वाले देशो में शामिल है।

जर्मनी

यूरोप के एक और विकसित देश जर्मनी में महिलाओं के साथ बलात्कार और उसके बाद उनकी हत्या आम बात है। जर्मनी में ढाई लाख से अधिक महिलाए ऐसी जघन्य अपराधो में अपनी जान गँवा चुकी है। यहाँ तक की जर्मनी की कई चर्चो में प्रार्थना के बाद गर्भ निरोधक दवाइयां तक बांटी जाती है।


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE