160109040245_advertisment_of_thailand_624x351_bbc_nocredit

सोशल मीडिया में कड़ी आलोचना के बाद सौंदर्य प्रसाधन बनाने वाली थाईलैंड की एक कंपनी ने गोरा बनाने का दावा करने वाली क्रीम का विज्ञापन वापस ले लिया है. इस विज्ञापन में देश की मशहूर अभिनेत्री क्रिस हॉरवांग को यह कहते हुए दिखाया गया है कि उनकी गोरी त्वचा का राज ये उत्पाद है.

इस विज्ञापन की सोशल मीडिया पर ख़ासी आलोचना हुई और कई लोगों ने तो इसे ‘नस्लवादी’ तक करार दे दिया.

इसके बाद उत्पाद बनाने वाली कंपनी सियोल सीक्रेट ने विज्ञापन पर माफ़ी मांगते हुए कहा है कि उसकी मंशा किसी की भावनाओं को आहत करना नहीं था.

विज्ञापन में हॉरवांग कहती हैं, “मुझे दुनिया में कड़े मुक़ाबले का सामना करना पड़ता है. यदि मैं अपना ध्यान नहीं रखूंगी तो वो सब जो मैंने अपने गोरे रंग से पाया है सब जा सकता है.”

विज्ञापन में दिखाया गया है एक समय में उनकी त्वचा पूरी तरह काली पड़ जाती है. एक युवा और गोरी त्वचा वाली उनकी प्रतिद्वंदी दूसरी ओर प्रकट होती है.

अपने प्रतिद्वंदी को देखकर वह निराशा से सोचती है कि काश मैं भी गोरी होती तो जीत जाती.

इस वाकये ने देश में त्वचा के रंग के प्रति व्यवहार को लेकर एक बार फिर बहस छेड़ दी है.

देश में त्वचा को गोरा बनाने वाले उत्पादों की भरमार भी है और किसी की त्वचा के रंग को लेकर टिप्पणी करना सामान्य बात है.

थाइलैंड में सांवली त्वचा को ‘निचले तबके’ का माना जाता है. हालांकि कई युवा अब त्वचा के रंग से जुड़ी रूढ़िवादी सोच के ख़िलाफ़ मुखर हुए हैं.


लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

कमेंट ज़रूर करें