muslim-couple-adopted-newborn-baby-who-was-through
सांकेतिक फ़ोटो

सड़क किनारे फेंकी मिली नवजात बच्ची, खुदा का तोहफा मान किया कुबूल

मऊ. रमजान के पाक महीने में सड़क किनारे लावारिस हाल में फेंकी गयी नवजात बच्ची को एक मुस्लिम परिवार ने गोद लेकर मिसाल कायम किया है। रमजान माह दुआओं का पाक माह माना जाता हैं, इस माह में मांगी गई सारी मन्नतें पूरी होती हैं। ऐसे में इस मुस्लिम परिवार ने इस बच्ची को खुदा का तोहफा मानकर कुबूल किया हैं।

और पढ़े -   देश के 800 शहरों में निकाला गया अमन मार्च, मीडिया से खबर गायब

 जानकारी के अनुसार, मामला घोसी कोतवाली के कारीसाथ गांव का हैं, जहां गांव के ही सड़क किनारे खेल रहे बच्चों ने एक नवजात बच्ची को लावारिस हाल में फेका हुआ देखा, तो अपने परिजनों को इसकी सूचना दी। सूचना मिलते ही ग्रामीणों की सड़क किनारे भारी भीड़ जमा हो गयी।

इतने में ही गांव के ही एक मुस्लिम दम्पत्ती इश्तियाक  और उनकी पत्नी ने बच्ची को गोद लेने का फैसला लिया। इस फैसले पर ग्रामीणों ने उनकी भरपूर सराहना करते हुए सहयोग शुरु किया और बच्ची को उठा कर अपने घर ले आये और उसे अच्छी परवरिस देने का फैसला किया।

और पढ़े -   न्यूज़ एंकर बोली "बच्चों की मौत का मुद्दा ना उठायें, वन्देमातरम पर बहस करें"

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE