meena

हरिद्वार – यह खबर इतनी भावुक कर देने वाली है की कलम के आँखों होती तो उनसे भी लिखते समय आंसू निकल आते, आज हम आपको बताने जा रहे है एक ऐसी युवती की कहानी जिसने अपने अंधे बाप को बुग्गी पर बैठाकर 70 किलोमीटर तक अपने कन्धों पर बुग्गी(खच्चर गाड़ी) खिंची.

क्या था मामला

मीना अपने माता-पिता के साथ अपनी 12 वर्षीय छोटी बहन को ढूंढने हरिद्वार पहुंची थी, जिसका दो मिहने पहले अपहरण कर लिया गया था, चूँकि अपहरण कर्ता साधू के भेष में था और अपहरण के बाद उसे हरिद्वार ले गया, अपहरण के समय मीना अपनी बहन के साथ थी लेकिन वो किसी तरह वहां से बचकर भाग निकली.

बागपत में डीएम् आवास के पास झुग्गी झोपड़ी में रहने वाला मीना का परिवार, अपनी बच्ची को ढूढने के लिए बुग्गी गाड़ी से ही हरिद्वार के लिए निकल पड़ा. यहाँ ज्ञात रहे की मीना के पिता नेत्रहीन हैं. हरिद्वार पहुँचने के बाद मीना ने अपने परिवार के साथ छोटी बहन की काफी खोजबीन की लेकिन वो नही मिली. लगभग एक महीने तक किसी तरह भीख मांगकर गुज़ारा बसर किया लेकिन कुदरत को तो शायद कुछ और ही मंज़ूर था. इसी बीच उनका खच्चर भी कोई चोरी करके ले गया, अब ऐसे में परिवार के लिए मुश्किलें और बढ़ गयी, उनका छोटी बहन को ढूँढना मुश्किल हो गया और मायूसी में परिवार को वापस लौटना पड़ा.

ऐसे में सबसे बड़ी दिक्कत यह थी की अब वापस कैसे जाया जाए तो मीना ने खच्चर की जगह खुद को जोत दिया और हरिद्वार से शामली तक अपने माता-पिता को बुग्गी पर बैठाकर खुद जानवर की तरह गाडी खींचती हुई ले आई.

इस दृश्य पर अनुज सैनी व एक स्थानीय पत्रकार प्रताप राठौर की नज़र पड़ती है. प्रताप एक स्थानीय अख़बार से जुड़े हैं. जिनकी अथक मेहनत और प्रयास के बल पर मीना को नया खच्चर मिल गया. पत्रकारों का कहना है की यह फोटो लेते समय उनके हाथ काँप रहे थे और मीना के पैर के छाले उनसे देखे नही जा रहे थे.

two circle.net  में प्राकशित इस खबर के अनुसार मीना का कहना है की घोड़ी तो कलक्टर बाबू ने दिलवाई है और एसपी साहब ने हमारी बहन को तलाशने के लिए पुलिस भेजी है. मगर असली हमारी मदद तो उन दो लड़कों ने की है, जिन्होंने हमारा फोटो खींचा था. हमारा अपना घर नहीं है. यहां झुग्गी में सड़क के किनारे रहते हैं और मांग कर खाते हैं. मेरे पिता आँख से देख नहीं सकते. मेरी माँ आज भी मेरी छोटी बहन की याद में तड़पती है.


Video Courtesy – BeyondHeadlines youtube Channel


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

अभी पढ़ी जा रही ख़बरें

SHARE