Kerala Man Insulted NSG Commando Killed In Pathankot Blast Arrested
शहीद लेफ्टिनेंट कर्नल निरंजन की 18 महीने की बेटी

पठानकोट में हुए आंतकी हमले में लेफ्टिनेंट कर्नल निरंजन कुमार समेत 6 अन्य जवान शहीद हो गए। सोशल मीडिया पर देश भर के लोग पठानकोट हमले में शहीद हुए ले. कर्नल निरंजन और अन्य 6 शहीदों को अपनी-अपनी तरह से श्रद्धांजलि दे रहे हैं। ऐसे ही एक पोस्ट में केरल के एक फेसबुक यूजर ने शहीद निरंजन पर अपमानजनक टिप्पणी कर दी। कॉमेंट करने वाले व्यक्ति को पुलिस ने राष्ट्रदोह के आरोप में गिरफ्तार किया है।

कॉमेंट करने वाले अनवर ने अपने कॉमेंट में लिखा, ‘एक मुसीबत कम हुई, अब! अब उनकी पत्नी को वित्तीय सहायता और नौकरी दी जाएगी। आम आदमी को कुछ नहीं मिलता। कैसा बदबूदार लोकतंत्र है!’ मामले पर तुरंत ऐक्शन लेते हुए मलप्पुरम निवासी 24 वर्षीय अनवर को एसीपी जोसी चेरियन के नेतृत्व में गठित पुलिस टीम ने कोडुर स्थित उसके घर से आईपीसी के सेक्शन 124 (राष्ट्रदोह) के तहत मंगलवार दोपहर 1:30 बजे गिरफ्तार कर लिया है।

उसके यह कॉमेंट करते ही सोशल मीडिया पर लोग उस पर बरस पड़े और उसकी जमकर आलोचना की। उसकी प्रोफाइल के मुताबिक वह एक मलयालम न्यूजपेपर ‘माध्यमम’ के लिए काम करता है। पुलिस में शिकायत भी किसी और ने नहीं बल्कि अखबार के मैनेजमेंट ने ही की, साथ ही मैनेजमेंट ने इस बात से भी इनकार किया है कि अनवर ने कभी उनके यहां काम किया है।

अनवर एक राशन की दुकान पर सेल्समैन का काम करता है। उसने अपनी प्रोफाइल पर माध्यमम का जिक्र इसलिए किया ताकि लोग उसे गंभीरता से लें।

एसीपी चेरियन के मुताबिक, ‘कॉमेंट को डिलीट कर दिया गया था, ऐसे में पोस्ट को रीकवर कर पाना मुश्किल होगा। लेकिन मामले में पूछताछ जारी है।’

सोमवार को शहीद निरंजन का पार्थिव शरीर एयरफोर्स के स्पेशल विमान से बेंगलुरु स्थित उनके घर पहुंचा। निरंजन एनएसजी में बम निरोधक दस्ते के प्रमुख थे और पठानकोट में हुए आंतकी हमले के दौरान उनकी मौत भी एक बम डिफ्यूज करने की कोशिश में ही हुई थी। निरंजन अपने पीछे 18 महीने की बच्ची छोड़ गए हैं। निरंजन की मौत पर उनकी बहन ने सबके सामने बहुत ही गर्व से कहा था, ‘मेरा भाई अर्जुन था।’


लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

कमेंट ज़रूर करें