JNU में प्रधानमन्त्री मोदी और अमित शाह के पुतले जलाए जाने के बाद से जिस तरह मीडिया में देशद्रोह से लेकर प्रधानमंत्री पद की गरिमा की बात की जा रही है उसे देखकर ऐसा प्रतीत होता है की शायद देश में पहली बार किसी प्रधानमन्त्री का पुतला दहन हुआ हो … लेकिन यह सच नही है. तमाम पार्टियाँ अपना विरोध प्रकट करने के लिए विरोधी पार्टी के सुप्रीम लीडर का पुतला दहन करती आ रही है. कांग्रेस के समय भाजपा और भाजपा के समय कांग्रेस .. ये सिलसिला बहुत पहले से चलता आ रहा है ..

आइये दिखाते है की भाजपा सरकार आने से पहले किस तरह बीजेपी ने तत्कालीन मुख्यमंत्री मनमोहन सिंह के पुतले फूंके और सबसे अधिक मज़े की बात जिन मुद्दों पर पुतले फूंके गये वो है मंहगाई, पेट्रोल की बढ़ती कीमत,  मनमोहन सिंह द्वारा पाकिस्तान की विदेश यात्रा, ऍफ़डीआई.

man8 man7 man6 man5 man4 man3 man2 manmohan


लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

कमेंट ज़रूर करें