According-to-reports-selfie-deaths-in-India-were-more-than-anywhere-in-the-world-last-year
पिछले दिनों मुंबई में इंजीनियरिंग की छात्रा की सेल्फी लेने के चक्कर में दुर्घटना हो गयी थी

सेल्फी लेने के दौरान लापरवाही बरतना या ज्यादा जोखिम उठाना कितना खतरनाक हो सकता है, इसका पता पिछले साल हुईं ‘सेल्फी डेथ्स’ के आंकड़ों से चलता है। सेल्फी डेथ्स यानी सेल्फी लेने के चक्कर में हुई मौत के मामले भारत में लगातार बढ़ रहे हैं। आलम यह रहा कि पिछले साल भारत में सबसे ज्यादा सेल्फी डेथ्स हुईं।

रिपोर्ट्स के मुताबिक साल 2015 में दुनिया भर में सेल्फी लेने के चक्कर में 27 मौतें हुईं, जिनमें से आधे मामले भारत के थे। ‘द वॉशिंगटन पोस्ट’ की रिपोर्ट के मुताबिक भारत में लोग कभी ट्रेन के आगे सेल्फी लेने के चक्कर में मौत के आगोश में समा गए तो कभी पिकनिक के दौरान नाव से गिर जाने से। कुछ लोग खाई से सेल्फी लेने के चक्कर में गिर गए तो कुछ नहर में डूब गए।

पिछले दिनों मुंबई के बांद्रा में एक लड़की की सेल्फी लेते वक्त समदंर में डूबने से मौत हो गई थी। इस घटना के बाद मुंबई पुलिस ने एक दर्जन से ज्यादा ऐसी ‘खतरनाक’ जगहों की पहचान की है, जहां सेल्फी लेना खतरनाक साबित हो सकता है। इन जगहों ‘नो-सेल्फी ज़ोन’ बनाया गया है।

मुंबई पुलिस का कहना है कि कुछ जगहों पर सेल्फी लेने के दौरान हादसे न हों, इसके लिए अधिकारियों को जरूरी कदम उठाने के निर्देश दे दिए गए हैं। ऐसी जगहों पर वॉर्निंग साइन लगाए जाएंगे और लाइफ गार्ड्स की तैनाती भी की जाएगी।

गौरतलब है कि पिछले साल हुए कुंभ के दौरान भी कुछ जगहों पर नो सेल्फी जोन बनाए गए थे। आयोजकों को डर था कि कहीं इस चक्कर में भगदड़ न मच जाए।


लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

Facebook Comment

Related Posts

loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें