shah-ghouse

आज का युवा वर्ग जिस तरह सोशल मीडिया की चपेट में आ चूका है उसके दुष्परिणाम भी सामने आने लगे है, जिस तरह 100 में से सिर्फ 10 यूजर ऐसे होते है जिन्हें जागरूक यूजर की श्रेणी में रखा जा सकता है लेकिन 90% से अधिल लोग बिना खबर की तहकीकात करे उसे आगे शेयर कर देते है, एक यूजर को शेयर करने के लिए सिर्फ एक क्लिक करना होता है लेकिन वो अफवाह किसी की ज़िन्दगी से लेकर व्यापार तक चौपट कर सकती है. ठीक ऐसा ही हैदराबाद में हुआ, हैदराबाद के शाह गौस की बिरयानी को हैदराबाद में रहने वाला शायद हो कोई शख्स होगा जिसने या तो टेस्ट ना की हो लेकिन यह प्रसिद्ध रेस्टोरंट एक अफवाह की भेट चढ़ गया.

हुआ यूं की 22 वर्षीय वि चंद्रा मोहन नाम के एक व्यक्ति ने व्हाट्सऐप पर कुत्तों के गोश्त के साथ यह अफवाह फैलाई की शाह गौस के मालिक को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है, इस फोटो में दो कुत्तों को घृणिक तरीके से दिखाया गया था, मेसज में आगे लिखा था कि शहर के नगर निगम के अधिकारी रेस्टॉरेंट आये थे और कुछ खाने के नमूने जांच के लिए लेकर गए। देखते ही देखते यह फोटो इतनी वायरल हो गयी की शहर के हर शख्स को यह अफवाह सच मालूम हुई और लोगो ने होटल से किनारा करना शुरू कर दिया, हालाँकि पुलिस ने अफवाह फ़ैलाने वाले युवक को गिरफ्तार कर लिया है लेकिन रेस्टोरंट का धंदा पूरी तरह चौपट हो गया.

शाह घोस के मालिक मोहम्मद रब्बानी ने बताया कि पिछले साल क्रिसमस के दौरान इस रेस्टॉरेंट में बैठे तक की जगह नहीं थी और अब इक्का दुक्का ग्राहक ही नज़र आते हैं। जबकि नोटबंदी का भी रेस्टॉरेंट के व्यापार पर इतना फ़र्क़ नहीं पड़ा था। लेकिन जो लोग उस व्हाट्सअप अफवाह के चपेट में आगये उन लोगो ने मेरा व्यापर पूरी तरह से नष्ट कर दिया है।

जिस व्यक्ति ने यह अफवाह फैलाई थी उसको पहचान लिया गया है वो 22 वर्षीय वि चंद्रा मोहन है जो की रिकब गूंज ऑफ़ मदीना में एमबीए का छात्र है लेकिन अभी तक यह पता नही चल पाया है की इस युवक ने ऐसा क्यों किया.


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

अभी पढ़ी जा रही ख़बरें

SHARE