विश्व बैंक ने ग़ज़्ज़ा के पुनर्निमाण के लिए अरब देशों से आगे आने का अनुरोध किया है। प्रेस टीवी के अनुसार विश्व बैंक ने अरब देशों से मांग की है कि वे ग़ज़्ज़ा के पुनर्निमाण के बारे में दिये गए अपने वचनों का पालन करें। विश्व बैंक ने सऊदी अरब, क़तर और संयुक्त अरब इमारात सहित फ़ार्स की खाड़ी के तटवर्ती देशों से कहा है कि उन्होंने ग़ज़्ज़ा के पुनर्निमाण के बारे में जो वचन दिये थे उनको वे पूरा करें क्योंकि ग़ज़्ज़ा की स्थिति दिन-प्रतिदिन दयनीय होती जा रही है।

और पढ़े -   मुस्लिम विरोधी सांसद ने ऑस्ट्रेलियाई संसद में बुर्का पहनकर मचाया हंगामा

विश्व बैंक के अनुसार सऊदी अरब ने ग़ज़्ज़ा के पुनर्निमाण के लिए 500 मिलयन डालर देने का वचन दिया था किंतु उसने इस राशि का केवल दस प्रतिशत ही दिया है। तुर्की ने 200 मिलयन डालर की सहायता का वचन दिया था किंतु दो वर्षों से अधिक का समय गुज़रने के बावजूद अंकारा ने अबतक केवल 32 प्रतिशत ही दिया है।

और पढ़े -   जानिए: 1967 से मस्जिदुल अक़्सा पर होने वाले प्रमुख इस्राईली हमलो की जानकारी

उल्लेखनीय है कि ज़ायोनी शासन ने ग़ज़्ज़ा पर 50 दिसवीय पाश्विक आक्रमण में कम से कम 2200 फ़िलिस्तीनियों को शहीद कर दिया। इस आक्रमण में ग़ज़्ज़ा में फ़िलिस्तीनियों के कम से कम एक लाख इक्हत्तर हज़ार घर नष्ट हो गए। वर्तमान समय में ग़ज़्ज़ा में 75 हज़ार फ़िलिस्तीनी बेघर हैं। सन 2014 को मिस्र की राजधानी क़ाहिरा में अन्तर्राष्ट्रीय कांफ़्रेंस का आयोजन हुआ था जिसमें विश्व समुदाय ने ग़ज़्ज़ा के पुनर्निमाण के लिए लगभग 4 अरब डालर देने का वचन दिया था।

और पढ़े -   सऊदी हमले के कारण यमन के करोड़ों लोग साफ पीने के पानी से वंचित

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE