इजरायल के अपार्थाइड से संघर्ष के सप्ताह के अवसर पर संसार के विभिन्न शहरों में इजरायल विरोधी कैम्पेन में वृद्धि हो गई है।

Boycott Israel

प्राप्त रिपोर्ट के अनुसार इस अवसर पर फ़िलिस्तीन के साथ ही पूरी दुनिया के ढाई सौ शहरों और विश्व विद्यालयों में कार्यक्रम आयोजित होंगे ताकि ज़ायोनियों के मुक़ाबले में फ़िलिस्तीनियों के प्रतिरोध के प्रति समर्थन की घोषणा की जाए। ग़ज़्ज़ा में इजरायल के बहिष्कार की राष्ट्रीय समिति के समन्वयक अब्दुर्रहमान अबू नहल ने बताया है कि इस समिति की गतिविधियां, इजरायली शासन को विश्व विद्यालय, सांस्कृतिक और सामरिक क्षेत्रों में अलग थलग करने पर केंद्रित रहेंगी।

उन्होंने बताया कि वर्ष 2005 में फ़िलिस्तीनी कार्यकर्ताओं और कुछ कनाडाई नागरिकों ने यह सप्ताह मनाने की पहल की थी जिसका उद्देश्य इजरायल का वास्तविक चेहरा संसार के समक्ष लाना है। अबू नहल ने कहा कि ये गतिविधियां पूरे विश्व में फैलती जा रही हैं और अधिक से अधिक लोग इस कैम्पेन से जुड़ रहे हैं।

उन्होंने इजरायली शासन के साथ संबंधों को किसी भी रूप में सामान्य बनाने का विरोध करते हुए कहा कि हम बहिष्कार के माध्यम से प्रयास कर रहे हैं कि फ़िलिस्तीनी राष्ट्र को अपने भविष्य निर्धारण का अधिकार मिल जाए और यह तभी संभव है जब इजरायल सभी अतिग्रहित क्षेत्रों पर से अपना क़ब्ज़ा समाप्त करे और फ़िलिस्तीनी शरणार्थियों को उनके घरों में लौटने दे। (hindkhabar)

English Summary

Abdurrahman Abu Nahal said that we oppose every type of effort being mad with the Israeli government to normalise the relation.


लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

कमेंट ज़रूर करें