उद्योगपति विजय माल्या ने लंदन में फ़ाइनेंशियल टाइम्स को दिए गए एक इंटरव्यू में कहा है कि उनका पासपोर्ट रद्द करने या उनकी गिरफ़्तारी से कोई पैसा नहीं मिलने वाला है. माल्या ने आगे कहा कि वे अपने कारोबारी करियर के एक दुखद अध्याय को बंद करना चाहते हैं. “हम बैंकों के साथ हमेशा बात करते रहे हैं. कर्ज़ भी चुकाना भी चाहते हैं लेकिन इस वक़्त हमारी जो क्षमता है उसी आधार पर निपटारा होना चाहिए और बैंको ने पहले भी ऐसा कई बार किया है.”

vijay-mallya110

भारतीय विदेश मंत्रालय ने उद्योगपति विजय माल्या का पासपोर्ट रद्द कर दिया है और उनके ख़िलाफ़ ग़ैर ज़मानती वारंट भी जारी हुआ है. भारत का विदेश मंत्रालय उनके निर्वासन के लिए क़ानूनी सलाह ले रहा है. माल्या ने कहा कि उनकी ब्रिटेन छोड़ने की कोई योजना नहीं है लेकिन ब्रिटेन में रहना उनके लिए एक मज़बूरी हैं.

और पढ़े -   काबा शरीफ पर आत्मघाती हमले की कोशिश नाकाम, एक सैनिक समेत 9 लोगों की मौत

उन्होंने बताया कि सुप्रीम कोर्ट में उन्होंने बैंकों के कुछ बकाया राशि का भुगतान करने की पेशकश की थी लेकिन बैंकों ने ये रकम लेने से इनक़ार कर दिया. बैंक उनके कर्ज़ में थोड़ी भी कटौती करने से डर रहे हैं क्योंकि भारत में उनके ख़िलाफ़ सार्वजनिक भावना उन्माद के स्तर तक पहुंच चुकी है.

“भारत के माहौल को समझना ज़रूरी है. इलेक्ट्रॉनिक मीडिया न केवल सार्वजनिक विचारधाराओं को बदलने में अहम भूमिका निभा रही है बल्कि यह काफी हद तक सरकार को भी उकसाती है.” उन्होंने कहा कि बकाया रकम इतनी नहीं हैं जितनी बताई जा रही हैं इससे काफी ज्यादा बताया जा रहा हैं.

और पढ़े -   बगदादी ने जिस मस्जिद से किया था खिलाफत का ऐलान, आईएस ने गिराई 800 साल पुरानी वह ऐतिहासिक मस्जिद

उन्होंने इस बात को भी ख़ारिज किया कि उनके ख़िलाफ़ गिरफ़्तारी वॉरंट जारी करने और उनका पासपोर्ट रद्द करने के पीछे नरेंद्र मोदी का कोई हाथ रहा होगा. उन्होंने कहा, “मैं एक स्थिर सरकार के साथ खुश हूं. अगर राज्य सभा में भी सरकार को बहुमत मिल जाए तो मुझे ख़ुशी होगी.”

उन्होंने कहा कि पेशेवर बैंकर निपटारा करके आगे बढ़ना चाहते हैं लेकिन मेरी छवि जिस तरह पेश की जा रही है उसकी वजह से वह मुझे कोई छूट देने से हिचक रहे हैं क्योंकि उन्हें मीडिया की आलोचना झेलनी पड़ेगी और भारत की सतर्कता एजेंसियां जांच करने लगेंगी.

और पढ़े -   ‘इराक-सीरिया-जॉर्डन’ की त्रिकोणीय सीमा पर हश्दुश्शाबी(ईराकी बल) तैनान

उनका कहना है कि वह एक देशभक्त हैं और उन्हें भारतीय झंडा लहराने में गर्व महसूस होता है लेकिन उनको लेकर इतना शोरगुल मचा हुआ है कि उन्हें इस वक़्त ब्रिटेन में ही रहना सुरक्षित लग रहा है.


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE