श्रीलंका में अतिवादियों बौद्धों द्वारा देश के अल्पसंख्यक समुदाय द्वारा की जा रही हिंसा पर प्रधानमन्त्री विक्रमा सिंघे ने चिंता जाहिर की है. साथ ही उन्होंने इस तत्काल रोके जाने की भी बात कही.

इर्ना की रिपोर्ट के अनुसार श्रीलंका के प्रधानमंत्री ने गुरूवार को अपने एक संबोधन में कहा है कि हमारी सरकार, कुछ लोगों द्वारा मुसलमानों के विरुद्ध दिये जाने वाले घृणापूर्ण बयानों का कड़ा विरोध करती है.

और पढ़े -   स्पेन: बार्सिलोना में आतंकी हमला, कार से कुचलकर 13 लोगों की मौत

उन्होंने कहा कि इन बयानों का उद्देश्य श्रीलंका में मुसलमानों के विरुद्ध हिंसा को विस्तृत करना है. श्रीलंका के प्रधानमंत्री ने कहा कि पुलिस ने एेसे कई लोगों को गिरफ़्तार किया है जिनकी, हिंसा फैलाने में भूमिका रही है.

गौरतलब रहे कि हालिया कुछ महीनों के दौरान श्रीलंका में मुसलमानों के धर्मस्थलों और उनके व्यापारिक केन्द्रों पर हमलों में तेज़ी से वृद्धि हुई है.

और पढ़े -   आईएसआईएस के मुक़ाबले हिज़बुल्लाह की निरंतर सफलताओं से इस्राईल में मचा हड़कंप

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE