ktt

भारत में “सामाजिक सहिष्णुता बढ़ाने” के लिए अमेरिका ने भारतीय एनजीओ को आर्थिक मदद देने का फैसला किया है. अमेरिका की और से गैर-सरकारी संगठनों (एनजीओ) को पांच लाख डॉलर (करीब 324 करोड़ रुपये) देने की घोषणा की गई है.

अमेरिका के गृह मंत्रालय ने गुरुवार को घोषणा करते हुए कहा कि वह भारत में धार्मिक विचारधारा से प्रेरित हिंसा” को कम करने के लिए ये कदम उठा रहा है. विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता ने कहा, इस कार्यक्रम का उद्देश्य धर्म से प्रेरित हिंसा एवं भेदभाव को कम करने के लिए नागरिक सुरक्षा में सुधार करना और सामाजिक सहिष्णुता बढ़ाना है.

प्रवक्ता ने कहा कि विदेश मंत्रालय चाहता है कि आवेदन करने वाले संगठन व्यापक हिंसा कम करने के लिए शुरुआती चेतावनी प्रणालियां विकसित एवं लागू करने और अल्पसंख्यक एवं बहुसंख्यक समूहों के बीच संघर्ष कम करने के कार्यक्रमों को लागू करने समेत अन्य प्रस्तावों के साथ आगे आयें.

उन्होंने कहा कि आवेदन में सभी प्रकार के मीडिया का इस्तेमाल करके घृणास्पद एवं भेदभाव पैदा करने वाले संदेशों का मुकाबला सकारात्मक संदेशों से करने वाले सफल कार्यक्रम पेश किये जायें. अमेरिकी गृह मंत्रालय ने भारतीय युवाओं में नागरिक भागीदारी को बढ़ावा देने वाले कार्यक्रमों के चयन के लिए खुली प्रतियोगिता के आयोजन की भी घोषणा की.

मंत्रालय की तरफ से जारी सूचना के अनुसार इस प्रतियोगिता में सफल होने वाले कम से कम एक आवेदनकर्ता को करीब 6.50 लाख डॉलर (करीब 42 करोड़ रुपये) की आर्थिक मदद दी जाएगी.


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

अभी पढ़ी जा रही ख़बरें

SHARE