panch

अमेरिका के कैलिफोर्निया में 41 वर्षीय भारतीय मूल की अमेरिकी महिला को नस्लीय हमले का सामना करना पड़ा हैं. दरअसल हमलावरों ने महिला के सिर पर बंधे बंदाना को गलती से हिजाब समझ लिया था.

निकी पंचोली पर हमला उस वक्त हुआ जब वे ‘पीस वॉक’ पर थीं और लौटते समय उन्होंने देखा कि उनकी कार के शीशे टूटे हुए हैं, उनका पर्स चोरी हो चुका है और वहां एक नोट पड़ा हुआ है जिस पर हिजाब पहनी हुई … लिखा हुआ है. नोट में उनसे ‘भाग जाने’ को कहा गया है.

और पढ़े -   फिलिस्तीन का साथ देने पर सऊदी और उसके घटक देश दे रहे क़तर को सज़ा

रिपोर्ट के अनुसार, पंचोली मुस्लिम नहीं हैं और न ही वह हिजाब पहनती हैं. वह राजस्थान की हैं और बाल झड़ने की समस्या होने के कारण वह सिर पर बंदाना पहनती हैं. उन्होंने कहा, ‘जब मैंने देखा तो स्तब्ध रह गई कि ऐसा करने से कोई इतनी घृणा महसूस कर सकता है. मुझे लगा कि इस चुनाव के बाद ऐसा माहौल है. लेकिन मुझे लगा कि कोई इतना अनभिज्ञ नहीं हो और इतना दुखी नहीं हो कि इतना नुकसान पहुंचाए.

और पढ़े -   नाकेबंदी के बावजूद क़तर ने दिखाया बड़ा दिल - नहीं बंद करेगा अमीरात को गैस की सप्लाई

डोनाल्ड ट्रम्प की जीत के बाद से ही अमेरिका में मुस्लिमों के खिलाफ नस्लीय हमले बढ़ गये हैं. हाल ही में एक सिख युवक पर भी मुस्लिम समझ कर हमला कर दिया गया था.


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE