rahila

अमेरिका में इस बार का राष्ट्रपति चुनाव मुस्लिम समाज सहित अल्पसंख्यक समुदाय के इर्द-गिर्द रहा. जिसके चलते देश में एक तरफा मुस्लिम विरोधी माहोल बन गया. इसके बावजूद एक मुस्लिम अमेरिकी महिला ने स्थानीय चुनाव में जीत दर्ज की हैं.

भारतीय मूल की इस मुस्लिम ने मेरीलैंड में जीत दर्ज कर मुस्लिम विरोधियों को मुंह तोड़ जवाब दिया हैं. 23 वर्षीय राहीला अहमद ने अपने प्रतिद्वंदी को 15 फीसदी वोटों के अंतर से हराते हुए जीत दर्ज की हैं. राहीला के पिता भारतीय हैं और उनकी मां पाकिस्तान से हैं.

मेरीलैंड के प्रिंस जॉर्ज काउंटी में स्कूल बोर्ड के चुनाव में राहीला अहमद ने जीत दर्ज की हैं. इससे पहले उन्होंने साल 2012 में भी इस चुनाव में हिस्सा लिया था परंतु वे हार गई थी. लेकिन इस बार अहमद को रिपब्ल्किन राष्ट्रीय समिति के पूर्व अध्यक्ष माइकल स्टील ने समर्थन दिया था.

अपनी जीत के बारें में राहिला अहमद ने कहा कि यह दिलचस्प बात है कि जिस दिन डोनाल्ड ट्रंप राष्ट्रपति चुने गए, उसी दिन मैं, एक हिजाबी युवा महिला भी, एक सावर्जनिक कार्यालय में सेवा के लिए चुनी गई. यही अमेरिका के लोगों के विचारों की विविधता के बारे में बताता है और यह भी कहता है कि अमेरिकन सपने अभी भी अच्छी स्थिति में है और जिंदा है.


लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

Facebook Comment

Related Posts

loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें