irt

ईरान के वरिष्ठ नेता आयतुल्लाहिल उज़्मा सय्यद अली ख़ामेनई के अंतर्राष्ट्रीय मामलों में सलाहकार अली अकबर विलायती ने  पश्चिम और अमरीका पर इस्लामिक देशों को बाँटने की साजिश का आरोप लगाते हुए कहा कि पश्चिम और अमरीका की पश्चिम एशिया के देशों इस्लामिक देशों बांटने की साजिश हैं.

विलायती ने शनिवार को तेहरान में ट्यूनीशिया के संसदीय प्रतिनिधिमंडल से मुलाक़ात में कहा, “अमरीका और पश्चिम सीरिया को 4 भाग में बांटना चाहते हैं और यही उन्होंने इराक़ के बारे में सोचा है कि उसे भी 3 भाग में बांट दें और यमन को भी कम से कम 2 भाग में बांटना चाहते हैं.”

उन्होंने आगे कहा, आतंकी और चरमपंथी, अमरीकियों और ज़ायोनियों के हाथ का खिलौना बने हुए हैं. आतंकवाद और साम्राज्यवादी शक्तियों का लक्ष्य मुसलमान देशों को कमज़ोर करने के लिए उन्हें बांटना है. उन्होंने ट्यूनीशिया के हालत पर चिंता जाहिर करते हुए कहा, ट्यूनीशिया भी ख़तरनाक हालात से घिरा हुआ है जिससे क्षेत्र में असुरक्षा पैदा हो गयी है.

हालांकि उन्होंने संतोष जाहिर करते हुए कहा कि इस्लामिक देशों के पास विश्व शक्ति का महत्वपूर्ण हिस्सा बनने की प्रबल संभावना है, उन्होंने इस्लामिक देशों  की सरकारों को सचेत करते हुए कहा कि अगर उनका बटवारा हो गया तो वे निष्प्रभावी सरकार बन कर रह जाएंगे.


लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

कमेंट ज़रूर करें