richerd

अरूणाचल प्रदेश के पर दौरे आये भारत में अमेरिकी राजदूत रिचर्ड वर्मा की यात्रा से चीन बोखला गया हैं. अमेरिकी राजदूत के अरूणाचल प्रदेश के तवांग में एक फेस्टिवल में शिरकत करने पहुंचे थे. तवांग चीन से सटा हुआ क्षेत्र है. अमेरिकी राजदूत की इस यात्रा पर बीजिंग ने कहा कि ऐसी घटना से दोनों देशों के बीच ना सिर्फ विवाद और बढ़ेगा बल्कि क्षेत्र की शांति को भी गहरा धक्का पहुंचेगा.

सोमवार को चीन ने अमेरिका को चेतावनी देते हुए कहा है कि नई दिल्ली और बीजिंग के बीच विवादास्पद क्षेत्र में किसी तीसरे पक्ष की दखल को किसी भी सूरत में बर्दाश्त नहीं किया जाएगा. चीन के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता लू केंग ने कहा, जिस जगह का सीनियर राजनयिक ने आधिकारिक दौरा किया है वह क्षेत्र चीन और भारत के बीच का विवादास्पद हिस्सा है। इसलिए, हम भारत और चीन के इस विवादास्पद हिस्से में दौरे का कड़ा विरोध करते हैं।

लू ने आगे कहा, हम अमेरिका से यह साफतौर पर कहना चाहते हैं कि वह चीन और भारत के बीच सीमा विवाद के मुद्दे पर दखल देना बंद करे और क्षेत्र की शांति और स्थायित्व के लिए अपनी दृढ़ता का परिचय दे।

लू ने आगे कहा कि भारत और चीन के बीच सीमा का मुद्दा काफी जटिल और संवेदनशील था। ऐसे में अगर कोई तीसरा पक्ष में उसमें दखल देता है तो उससे और तनाव उत्पन्न होगा।


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment

Related Posts

loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें
SHARE