संयुक्त राष्ट्र की सांस्कृतिक शाखा यूनेस्को ने ओल्ड सिटी ऑफ हेब्रोन को एक संरक्षित विरासत स्थल यानि ‘वर्ल्ड हेरिटेज साईट’ घोषित कर इजराइल को एक बड़ा झटका दिया है.

इजरायल के कब्जे वाले वेस्ट बैंक में हेब्रोन को विरासत का दर्जा देने के लिए – यूनेस्को ने गुप्त मतदान कराया. हेब्रोन में 200,000 से अधिक फिलीस्तीनियों और कुछ सौ इज़राइली निवासियों के घर है.

और पढ़े -   रोहिंग्या मुस्लिमो पर आंग सान सु ने तोड़ी चुप्पी कहा, रोहिंग्या म्यांमार में आतंकी हमलो में शामिल, अन्तराष्ट्रीय दबाव नही झुकेंगे

हेब्रोन को मुख्य रूप से मुस्लिमों को इब्राहिमी मस्जिद के रूप में जाना जाता है और यहूदियों को पितृसत्ताओं के मकबरे के रूप में जाना जाता है.

फिलिस्तीनियों द्वारा लाया गया संकल्प जो हेब्रोन के पुराने शहर को सार्वभौमिक मूल्य के क्षेत्र के रूप में घोषित करता है. फिलीस्तीनियों ने इजरायल पर “खतरनाक” उल्लंघनों का आरोप लगाते हुए कहा कि संपत्तियों को बर्बरता तरीके से नुकसान पहुँचाया गया है.

और पढ़े -   कुर्दिस्तान के रूप में दूसरा इजरायल बनाने की साजिश, समर्थकों ने लहराए इजरायली झंडे

मंगलवार को वोटिंग के दौरान यूनेस्कों द्वारा यरूशलेम में इजरायल के कार्यों की निंदा करने के प्रस्ताव के समर्थन से इजरायल का गुस्सा और बढ़ गया है.

इस दौरान यूनेस्को ने कहा, हेब्रोन दुनिया के सबसे पुराने शहरों में से एक है, जो पालकोलीथिक अवधि से 3,000 वर्ष पूर्व या उससे अधिक पुराना है. इस प्रस्ताव को फिलीस्तीनी कूटनीति की जीत के रूप में देखा जा रहा है.

और पढ़े -   मुहर्रम से पहले कर्बला पर हमले की योजना नाकाम, मारे गए सारे आतंकी

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE