tr23

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने आखिरकार बुधवार को औपचारिक तौर पर बैतूल मुक़द्दस (येरूशलम) को इजरायल की राजधानी के रूप में मान्यता दे दी है. हालांकि ट्रम्प के इस कदम का दुनिया भर में विरोध शुरू हो गया है.

ट्रम्प ने व्हाइट हाउस के डिप्लोमेटिक रिसेप्शन रूम के एक सार्वजनिक संबोधन में कहा, “मेरी घोषणा आज इजरायल और फिलीस्तीनियों के बीच संघर्ष के लिए एक नए दृष्टिकोण की शुरुआत का प्रतीक है.”

उन्होंने आगे कहा, इस घोषणा के बारे में असहमति और असंतोष होगा – लेकिन हमें विश्वास है कि अंततः, जैसा कि हम इन असहमतियों के जरिये काम करते हैं, हम अधिक समझदारी और सहयोग की जगह पहुंचेंगे. उन्होंने कहा, यह वास्तविकता की मान्यता से अधिक या कम नहीं है.

अमरीकी राष्ट्रपति के इस कदम के बाद दुनिया भर में अमेरिकी दूतावासों की सुरक्षा बड़ा दी गई है. इसी के साथ गज़ा पट्टी में एक बार फिर से ज़ायोनी शासन के ख़िलाफ़ एक और इन्तेफ़ाज़ा आंदोलन शुरु हो चूका है.

ध्यान रहे राष्ट्रपति का निर्णय अमेरिका की कई दशकों से अमरीकी नीतियों के साथ बदलाब सहित इज़रायल को छोड़कर, अंतरराष्ट्रीय समुदाय के साथ विवाद को दर्शाता है. यरूशलेम में किसी भी राष्ट्र का दूतावास नहीं है.


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

अभी पढ़ी जा रही ख़बरें

SHARE