zin

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा पाकिस्तान को ‘आतंकवाद की जननी’ पुकारे जाने के बाद चीन ने पाक को अपना सच्चा और पक्का दोस्त बताते हुए कहा कि चीन किसी भी देश या धर्म को आंतकवाद से जोड़ने के ख़िलाफ़ है. साथ ही चीन ने विश्व आतंक के खिलाफ पाकिस्तान के ‘महान बलिदानों’ को स्वीकार करने को कहा हैं.

चीन के विदेश मंत्रालय की प्रवक्ता हुआ चुनयिंग ने कहा कि चीन किसी देश को आतंकवाद के साथ जोड़े जाने के विरुद्ध है. हू ने कहा, ‘हम सभी तरह के आतंकवाद का विरोध करते हैं और हम मानते हैं कि सभी देशों के स्थायित्व और सुरक्षा को सुनिश्चित करने के लिए अंतरराष्ट्रीय संगठित प्रयास की जरूरत है.’

उन्होंने आगे कहा, भारत और पाकिस्तान ‘सभी आतंकवाद के पीड़ित’ हैं. पाकिस्तान ने आतंकवाद के खिलाफ संघर्ष में बड़ा बलिदान दिया है और इसे अंतरराष्ट्रीय जमात द्वारा स्वीकार किये जाने की जरूरत है. ध्यान रहें गोवा में ब्रिक्स सम्मेलन के दौरान पीएम मोदी ने पाकिस्तान पर आतंकियों को पनाह देने का आरोप लगाया था.

मोदी के पाकिस्तान द्वारा आतंकियों की मदद के आरोप पर उन्होंने कहा, आतंकवाद निरोध पर चीन का रूख सुसंगत है. इसी तरह, हम आतंकवाद को किसी खास देश या धर्म के साथ जोड़े जाने के विरूद्ध हैं.’ जहां तक भारत और पाकिस्तान के बीच समस्या की बात है तो दोनों ही देश चीन के करीबी पड़ोसी हैं. हम वाकई आशा करते हैं कि वे वार्ता और चर्चा के जरिए शांतिपूर्ण तरीके से इन मतभेदों को सुलझायेंगे,


लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

कमेंट ज़रूर करें