sar

आतंकवादियों के लिए पनाहगाह मुहैया कराने के मुद्दे पर संयुक्त राष्ट्र में पाकिस्तान की आलोचना करते हुए अफगानिस्तान ने कहा कि ‘‘बेरहम’’ आतंकी हमलों की साजिश रच कर और तालिबान तथा हक्कानी नेटवर्क जैसे समूहों को प्रशिक्षण और आर्थिक मदद देकर पाकिस्तान उसके नागरिकों के खिलाफ ‘‘अघोषित युद्ध’’ चला रहा है।

संयुक्त राष्ट्र महासभा में कल अपने संबोधन में अफगानिस्तान के उप राष्ट्रपति सरवर दानिश ने कहा कि उनके देश ने बार बार पाकिस्तान से ज्ञात आतंकवादी पनाहगाहों को नष्ट करने के लिए कहा है लेकिन स्थिति में कोई तब्दीली नहीं आई है।

और पढ़े -   म्यांमार को रोहिंग्या मुस्लिमों को वापस बुलाना ही होगा: शेख हसीना

उन्होंने कहा, ‘‘तालिबान और हक्कानी नेटवर्क को वहां पाकिस्तान में प्रशिक्षण और आर्थिक मदद दी जाती है। ‘‘अच्छे और बुरे आतंकवादियों’’ को लेकर पाकिस्तान का चाहे जो भी नजरिया हो लेकिन उनके बीच अंतर करने में वह दोहरी नीति अपनाता है।’’ उन्होंने कहा कि अफगानिस्तान और उसके लोगों के खिलाफ लगातार ‘‘अघोषित युद्ध’’ चलाया जा रहा है, जो अब भी ‘‘आतंकवादी समूहों के बेरहम हमलों’’ का निशाना बन रहे हैं।

और पढ़े -   रोहिंग्या नरसंहार के बीच भारत म्यांमार को सैन्य हथियार देने पर कर रहा विचार

‘अमेरिकन यूनीवर्सिटी ऑफ अफगानिस्तान’ और काबुल में शांतिपूर्ण प्रदर्शन पर आतंकवादी हमलों का हवाला देते हुए दानिश ने ‘‘मौजूदा सबूतों’’ के आधार पर कहा कि ये हमले सुनियोजित थे और इन्हें पाकिस्तान की सीमा के अंदर रचा गया था। उन्होंने आगे कहा कि पाकिस्तान स्थित 10 से अधिक आतंकवादी समूह इसके राष्ट्र निर्माण के प्रयासों और अफगानिस्तान में शांति एवं स्थिरता स्थापित करने में बाधा डाल रहे हैं। (भाषा)

और पढ़े -   जर्मनी ने मुस्लिम महिलाओं पर बुर्का पहन ड्राइविंग करने पर लगाया प्रतिबंध

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE