uni

सयुंक्त राष्ट्र संघ ने कश्मीर मामलें में हस्तक्षेप से इंकार करते हुए कहा कि कश्मीर भारत और पकिस्तान का द्विपक्षीय मुद्दा हैं. पाकिस्तान के प्रधानमंत्री नवाज शरीफ ने  हाल ही में कश्मीर में हिंसा को लेकर यूएन और अन्य देशों से हस्तक्षेप करने की अपील की थी.

गुरुवार को यूनाइटेड नेशन ने स्पष्ट रूप से कहा कि कश्मीर कश्मीर भारत और पकिस्तान का द्विपक्षीय मुद्दा हैं और इस मामले में कोई तीसरा पक्ष हस्तक्षेप नहीं करेगा. बीते कुछ समय से पाकिस्तान खुलकर कश्मीर मामले में यूनाइटेड नेशन्स से हस्तक्षेप की मांग करता रहा है.

और पढ़े -   परमाणु हथियार होने की वजह से अमेरिका नहीं करेगा उत्तरी कोरिया पर हमला: रूस

गौरतलब रहें कि नवाज शरीफ ने कहा था, ‘कश्मीर पाकिस्तान और यूएन का अधूरा अजेंडा है. हम कश्मीरियों को नैतिक और राजनीतिक समर्थन देना जारी रखेंगे. यूएन प्रस्ताव के तहत कश्मीर के लोगों को आत्मनिर्णय का अधिकार मिला है और वे इसका इस्तेमाल करना चाहते हैं. इस अधिकार को कोई छीन नहीं सकता है। हमलोग कश्मीर के मुद्दे को इंटरनैशनल मंच पर उठते रहेंगे.

और पढ़े -   इस्लाम की आड़ में आतंकवादी हमले मुस्लिमों के साथ सबसे बड़ा अन्याय: अज़रबैजानी राष्ट्रपति

कश्मीर के अलगाववादी नेता मीरवाइज ने कहा कि यूएन कश्मीर में जुल्म को नहीं रोक सकता है तो उसे अपनी दुकान बंद कर देनी चाहिए’


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE