सीरिया ने दावा किया कि फिलिस्तीन को लेकर मुसलमानों में मतभेद फैलाए जा रहे है. बावजूद कठिन परिस्थितियों के भी सीरिया ने कभी फिलिस्तीन का साथ कभी नही छोड़ा है.

सीरिया के राष्ट्रपति की सलाहकार बुसैना शाबान ने कहा है कि सीरिया संकट के आरंभ से ही ज़ायोनी शासन इस प्रयास में रहा है कि फ़िलिस्तीन के मामले में मुसलमानों के बीच मतभेद फैलाए जाएं. उन्होंने कहा कि सीरिया ने भी आरंभ से ही ज़ायोनी शासन की इस नीति का डटकर मुक़ाबला किया.

और पढ़े -   म्यांमार को रोहिंग्या मुस्लिमों को वापस बुलाना ही होगा: शेख हसीना

बुसैना शाबान ने कहा कि इस्लामी राष्ट्रों की विजय का महत्वपूर्ण कारक प्रतिरोध है.  उन्होंने कहा कि सीरिया ने फ़िलिस्तीन के मामले में अब तब ज़ायोनी शासन का मुक़ाबला किया है और कभी भी वह फ़िलिस्तीन के समर्थन की अपनी नीति से पीछे नहीं हटा है.  उन्होंने कहा कि दुश्मन का सबसे ख़तरनाक हथकण्डा, मुसलमानों को आपस में लड़ाना है.

और पढ़े -   मीडिया पर ढेरों पाबंदी, फिर भी पश्चिम के लिए इजरायल एक लोकतांत्रिक देश

दमिश्क़ में एक कांफ़्रेंस को संबोधित करते हुए सीरिया के राष्ट्रपति की सलाहकार ने कहा कि दुशमन ने सीरिया के विरुद्ध हर प्रकार साजिद रची और उन्हें इस बात की कोई उम्मीद नहीं थी कि ईरान, हिज़बुल्लाह और रूस इतनी दृढ़ता से डट जाएंगे जिससे उसे विफलता का मुंह देखना पड़ेगा.


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE