ब्रितानी संसद के ऊपरी सदन हाउस ऑफ़ लॉर्ड्स ने फ़िलिस्तीन को एक स्वाधीन देश के रूप में मान्यता देने की बात कही हैं. साथ ही हाउस ऑफ़ लॉर्ड्स ने देश की पश्चिम एशिया के बारे में नीति की फिर से समीक्षा की मांग भी की.

हाउस ऑफ़ लॉर्ड्स ने सरकार से अनुशंसा की कि वह ईरान के साथ हुए परमाणु समझौते का समर्थन करे और फ़िलिस्तीन को एक स्वाधीन देश के रूप में मान्यता देने के संबंध में गंभीरता दिखाए

और पढ़े -   रोहिंग्या मुस्लिमों का नरसंहार को रोक सकता है सिर्फ ये शख्स

ब्रिटेन से प्रकाशित अख़बार द टेलीग्राफ़ के अनुसार, हाउस ऑफ़ लॉर्ड्स की अंतर्राष्ट्रीय संबंध समिति ने कहा है कि लंदन को चाहिए कि वह पश्चिम एशिया के संबंध में अपनी नीति की समीक्षा करे और इस संबंध में अमरीका के पीछे-पीछे न चले. कमेटी ने कहा कि अमरीकी राष्ट्रपति की अनुचित नीति के कारण ही पश्चिम एशिया अस्थिरता की ओर बढ़ रहा है, इसलिए ब्रितानी सरकार को वाइट हाउस से दूरी बनानी चाहिए.

और पढ़े -   भारत ने की OIC से कश्मीर के मामले में टिप्पणी न करने की अपील

हाउस ऑफ़ लॉर्ड्स के सदस्यों ने मीडिल ईस्ट या पश्चिम एशिया के बारे में अपनी विस्तृत रिपोर्ट में, जो पूर्व ब्रितानी विदेश मंत्री लॉर्ड हावेल की अगुवाई में तैयार हुई, सीरिया संकट के बारे में लंदन की प्रतिक्रिया की आलोचना में कहा कि यह बात साबित हो चुकी है कि मौजूदा नीति के तहत सीरिया में किसी भी तरह की शांति के लिए बश्शार असद को हटाने की पूर्व शर्त एक ऐसा लक्ष्य है जो पूरा नहीं हो सकता.

और पढ़े -   सऊदी विदेश मंत्री ने कहा - क़तर संकट का हल सिर्फ दोहा के हाथ में

हाउस ऑफ़ लॉर्ड्स के सदस्यों ने इसी प्रकार ब्रितानी सरकार से यमन में सऊदी अरब की कार्यवाही के संबंध में कठोर नीति अपनाने की भी मांग की। हाउस ऑफ़ लॉर्ड्स ने ब्रितानी सरकार को सुझाव दिया कि वह सऊदी अरब को हथियारों का निर्यात रोक दे.


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE