syr

उत्तरी सीरिया के इदलिब प्रान्त के विद्रोहियों के क़ब्ज़े वाले हास गांव में बुधवार को हुए एक स्कूल पर हुए हवाई  हमले में 22 बच्चे और 6 टीचर मारे गए. ऎसा माना जा रहा है कि हवाई हमलों में मरने वालों की संख्या में इजाफा हो सकता है, क्योंकि कई घायलों की हालत गंभीर बताई जा रही है.

युक्त राष्ट्र की एजेंसी यूनिसेफ के निदेशक एंटनी लेक ने कहा, यह दु:खद घटना है. यह अत्याचार है और यदि यह जानबूझकर किया गया है तो यह युद्ध अपराध है. वहीँ सीरियन आब्जर्वेटरी फॉर ह्यूमन राइट्स ने कहा कि ‘रूस या सीरिया के युद्धक विमानों ने’ एक स्कूल परिसर समेत हास गांव में ‘छह हमले किए’.

और पढ़े -   ब्रिटेन में फिर से मस्जिद पर हमला, मैनचेस्टर इस्लामिक सेंटर को आग से भारी नुकसान

रूस के यूएन में एम्बेसडर विक्टर चुर्किन ने कहा, ‘यकीनन ये भयानक है. मैं उम्मीद करता हूं कि हम इसमें शामिल नहीं थे. मेरे लिए ना कहना आसान है लेकिन मैं एक जिम्मेदार शख्स हूं. अब ये देखना होगा कि हमारे डिफेंस मिनिस्टर इस मामले में क्या कहते हैं?’

सीरियाई ह्यूमन राइट्स ऑब्जर्वेटरी के मुताबिक, ‘हमला करने वाले वॉरप्लेन्स रूस या सीरिया के हो सकते हैं. उन्होंने हास गांव में स्कूल कॉम्प्लेक्स समेत 6 हमले किए.’

और पढ़े -   चीनी सेना ने अरुणाचल प्रदेश के नजदीक 11 घंटे तक किया सैन्य अभ्यास

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE