स्विट्जरलैंड के शहर बासेल में शिक्षा अधिकारियों का कहना है कि मुसलमानों को महिलाओं से हाथ मिलाने से नहीं बचना चाहिए। बुधवार को बासेल शहर के शिक्षा अधिकारियों ने एक आदेश जारी करके कहा है कि मुस्लिम छात्रों, छात्राओं और अध्यापकों को साथी महिलाओं और पुरुषों से हाथ मिलाने के क़ानून से अपवाद नहीं रखा जा सकता।

इस आदेश के अनुसार, एक अध्यापक को यह अधिकार हासिल है कि वह अपने सामने वाले व्यक्ति से हाथ मिलाने की मांग करे। यह निर्णय उस घटना के बाद लिया गया, जिसमें सीरायई मूल के दो छात्रों को अनुमति दी गई थी कि वे अपनी अध्यापिका से हाथ मिलाने से इनकार कर सकते हैं।

यह निर्णय स्कूल के स्तर पर और प्रशासन की जानकारी के बिना लिया गया था, जिसके बाद पूरे देश में इसे लेकर बहस छिड़ गई और इसका कड़ा विरोध शुरू हो गया।

बासेल शहर के अधिकारियों का कहना है कि अगर अब कोई दूसरे व्यक्ति से हाथ मिलाने से इनकार करेगा तो उसे क़ानून के अनुसार, दंडित किया जाएगा। उल्लेखनीय है कि स्विट्जरलैंड कुल आबादी 80 लाख है, जिसमें से 3 लाख 50 हज़ार मुसलमान हैं।


लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

कमेंट ज़रूर करें