trumpwin

चुनावों से पहले मुसलमानों को अमेरिका से बाहर का रास्ता दिखाने वाले ट्रम्प के चुनाव जीतते ही सुर यकायक बदल गये है. हालिया ख़बरों के मुताबिक डोनाल्ड ट्रम्प मुसलमानों पर होने वाले उत्पीड़न से दुखी नज़र आये तथा खुले तौर पर इसे बंद करने को कहा. इससे साथ साथ अफ्रीकी-अमेरिकी और लैटिन अमेरिकी लोगो के साथ हो रही ज्यादितियों से भी डोनाल्ड ट्रम्प परेशान नज़र आये.

और पढ़े -   सऊदी प्रिंस मुहम्मद बिन सलमान ने कहा - यमन युद्ध से अब निकलना चाहते है बाहर

अपने इंटरव्यू में डोनाल्ड ट्रम्प ने कहा की ‘ऐसी खबरों से मुझे गहरा दुख पहुंचा है और मैं कहना चाहता हूं कि इसे बंद कीजिए।’ हाल में मुसलमानों, अश्वेतों एवं अन्य अल्पसंख्यकों के अलावा समलैंगिक समुदाय के खिलाफ कथित घृणा अपराध को लेकर उनसे सवाल किया गया था। उनसे पूछा गया कि क्या आप उन लोगों से कुछ कहना चाहेंगे। ट्रंप ने कहा, ‘बिल्कुल, मैं कहूंगा कि यह भयानक है और ऐसा मत कीजिए। मैं इस देश को एकजुट करना चाहता हूं।’

और पढ़े -   2016 में गौरक्षा के नाम पर बढ़ी है मुस्लिमों पर हिंसा: अमेरिकी विदेशमंत्री

ट्रंप ने आगे कहा कि उनकी जीत से समाज का एक तबका भयभीत है क्योंकि वे लोग उन्हें नहीं जानते हैं। उन्होंने साफ कहा कि लोगों को डरने की कतई जरूरत नहीं है। विरोध कर रहे प्रदर्शनकारियों पर ट्रंप ने कहा कि मुझे लगता है कि इनमें बड़ी तादाद पेशेवर प्रदर्शनकारियों की है।


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE