अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प अपने चुनावी प्रचार के दौरान किये गए अमेरिका में मुस्लिम बैन के वादे से अब पीछे हटते हुए नजर आ रहे है. उन्होंने इस जुड़े अपने बयान को आधिकारिक वेबसाइट से भी हटा लिया है.

दरअसल ट्रम्प ने ये बयान 2015 में अपनी वेबसाइट पर पब्लिश किया था. जिसमे उन्होंने कहा था कि अगर वे अमेरिका के राष्ट्रपति बनते है तो अमेरिका में मुस्लिमों के प्रवेश को प्रतिबंधित कर देंगे.

वहीँ दूसरी अमरीका की अपील कोर्ट ने ट्रम्प के उस दावे पर जिसमें उन्होंने कहा था कि छह इस्लामी देशों के नागरिकों की अमरीका यात्रा पर राष्ट्रीय सुरक्षा की चिंता के कारण प्रतिबंध लगाया है, संदेह व्यक्त किया है.

अमरीका के उप एटार्नी जनरल जेफ़री वाॅल को जो ट्रम्प का प्रतिनिधित्व करते हुए वर्जीनिया की अपील कोर्ट में उपस्थित हुए, अदातल की खंडपीठ के कड़े सवालों का सामना करना पड़ा.

वर्जीनिया की रिचमंड अपील कोर्ट, अमरीका के राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रम्प के पलायनकर्ताओं के बारे में दिए आदेश की समीक्षाके लिए गठित की गयी है.


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

अभी पढ़ी जा रही ख़बरें

SHARE