साउथ अफ्रीका के 10 मान्य राजाओं में से एक बुएलेखाया दलिंदयेबो को 12 साल की जेल की सजा दी गई है। उनपर 20 साल पहले प्रजा पर अत्याचार, अपहरण और आगजनी करने के मामले में सुप्रीम कोर्ट ने यह सजा सुनाई है। बुएलेखया साउथ अफ्रीका के पहले अश्वेत राष्ट्रपति नेल्सन मंडेला के भतीजे हैं। गुरुवार को उन्हें पूर्वी केप प्रांत के मथाथा सुधारग्रह में भेज दिया गया।

और पढ़े -   यमन, रोहिंग्या सहित कई मुद्दों पर ईरानी राष्ट्रपति का संयुक्त राष्ट्र महासभा बैठक में विमर्श

‘द गार्डियन’ की रिपोर्ट के मुताबिक, वह दक्षिण अफ्रीका के पहले राजा हैं, जिन्हें जेल गए हैं। लम्बे समय से जेल से बाहर रहने के लिए वह बचने की कोशिश में लगे हुए थे। बुएलेखाया थेंबू कबीले के राजा रहे हैं। उस कबीले की आबादी करीब सात लाख है। साल 2009 में करीब दो दशक पहले के उनके अपराधों के लिए उनपर हत्या, आगजनी और उत्पीड़न के आरोप सिद्ध किए गए थे। लेकिन सुप्रीम कोर्ट ने अपील पर मानव हत्या के दोष को हटाकर उनकी सजा को कम कर 12 साल की जेल कर दिया। साभार: news24online

और पढ़े -   बौद्ध कट्टरपंथीयो के हमले में रोहिंग्याओं के लिए सहायता ले जा रहे 9 राहतकर्मियों की मौत

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE