पीएम मोदी ने कतर की कंपनियों से कहा, 'आइये भारत में निवेश अवसरों का फायदा उठाइये'

अफगानिस्तान से शुरू हुई प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की पांच देशों की यात्रा के दूसरे पड़ाव में प्रधानमंत्री ने शेख तमीम बिन हमद अल थनी से मुलाकात की. इस दोरान पीएम मोदी ने शेख तमीम बिन हमद को जन्मदिन की मुबारकबाद भी पेश की. दोहा के अमीरी दीवान में प्रधानमंत्री का पारंपरिक तरीके से स्वागत किया गया।

इसके बाद दोनों देशों के बीच सात समझौतों पर सहमति बनी। इसमें इन्वेस्टमेंट और टूरिज्म प्रमोशन अहम हैं। इससे पहले बिजनेस लीडर्स से मुलाकात के दौरान पीएम ने इन्वेस्टमेंट के लिए उन्हें इनवाइट किया। इस मौके पर पीएम मोदी ने कहा, “भारत के 80 करोड़ युवा हमारी ताकत हैं। बुनियादी ढ़ांचे में सुधार लाना और मैन्युफैक्चरिंग हमारी प्राथमिकता है।”

और पढ़े -   इजराइल के ‘युद्ध अपराधों’के खिलाफ फ़िलिस्तीनियों ने खटखटाया अंतरराष्ट्रीय न्यायालय का दरवाजा

उन्होंने आगे कहा, “भारत स्मार्ट सिटीज, मेट्रो, अर्बन वेस्ट मैनेजमेंट की दिशा में तेजी से काम कर रहा है। जाहिर है, इससे लोगों की जिंदगी बदलेगी। आप लोग चाहें तो रेलवे, एग्रो प्रॉसेसिंग और सोलर एनर्जी जैसे क्षेत्रों में निवेश कर सकते हैं।”

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता विकास स्वरूप ने ट्वीटर पर मोदी के हवाले से लिखा,‘ भारत अवसरों की भूमि है। मैं इस अवसर का फायदा उठाने के लिए आपको व्यक्तिगत रूप से आमंत्रित करने आया हूं।’ मोदी ने उद्योगपतियों से कहा,‘आप सभी ने भारत की संभावनाओं को माना है। आप द्वारा चिन्हित दिक्कतों को मैं दूर करूंगा।’

और पढ़े -   व्हाइट हाउस में भी शुरू हुआ ट्रम्प का विरोध, प्रेस सचिव शॉन स्पाइसर का इस्तीफा

उन्होंने कहा,‘ भारत की भारी निवेश जरूरतों तथा निवेश अनुकूल नीतियों को देखते हुए कतर निवेश प्राधिकार द्वारा भारत में निवेश करने की व्यापक संभावना है।’ उन्होंने कहा कि कतर का सरकारी संपत्ति कोष तथा सार्वजनिक क्षेत्र की इकाइयां भार में बुनियादी ढांचे में आकषर्क निवेश विकल्पों पर विचार कर रही हैं।

मोदी ने बाद में ट्वीटर पर लिखा,‘ कतर के व्यापारियों के साथ भारत-कतर आर्थिक सहयोग बढाने के तौर तरीकों पर चर्चा की।’ भारत में निवेश अवसरों तथा मेक इन इंडिया पहल को लेकर भी बात हुई। बैठक में उपस्थित दस उद्योगपतियों में क्यूबीए के चेयरमैन शेख फैजल बिन कासिम अल-थानी, दोहा बैंक के चेयरमैन शेख फाहद एम जे अल-थानी व कतर स्टाक एक्सचेंज के सीईओ राशिद अली अल मंसूरी भी थे।

और पढ़े -   हज और उमरा के लिए कतर के नागरिकों पर नहीं कोई रोक: सऊदी हज मिनिस्ट्री

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE