Pope-francis

सीरिया मसलें पर आयोजित एक सम्मेलन में ईसाई धर्मगुरु पोप फ्रांसिस ने दोहरा रवैया अपनाने वालें देशों के बारें में कहा कि कुछ देश ऐसे हैं जो शांति की बात करते हैं और वहां हथियार भी भेजते हैं. ऐसे में शांति का बात करना बेमानी हैं. हालंकि पोप ने किसी भी देश का नाम नहीं लिया.

उन्होंने सीरिया की वर्तमान स्थिति पर कटाक्ष करते हुए कहा कि आप उस व्यक्ति पर कैसे भरोसा कर सकते हैं जो एक हाथ से सहलाए और दूसरे हाथ से तमाचा मारे.

और पढ़े -   इस्लाम की आड़ में आतंकवादी हमले मुस्लिमों के साथ सबसे बड़ा अन्याय: अज़रबैजानी राष्ट्रपति

गौरतलब रहें कि सीरिया में पिछले पांच साल से चल रहे गृह युद्ध से 10 लाख से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है और एक करोड़ से ज्यादा लोग को बेघर होना पड़ा है. रूस और ईरान सीरिया के राष्ट्रपति बशर-अल-असद की मदद कर रहे हैं जबकि वहां के विद्रोही गुटों को सऊदी अरब और पश्चिमी देशों से सहायता मिल रही है.

और पढ़े -   सिर्फ एक विवादित ट्वीट किया और छिन गया मिस तुर्की का ताज

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE