सऊदी अरब और तीन अन्य अरब देशों ने कतर से की गई मांगो में अल जजीरा मीडिया नेटवर्क को बंद करने को छोड़ दिया है.

द टाइम्स अखबार ने बुधवार को एक साक्षात्कार में  यूएई मंत्री नुरा अल काबी ने कहा कि अमीरात ने अल जजीरा को बंद करने की बजाए इसके मौलिक बदलाव और पुनर्गठन की मांग की है.

और पढ़े -   रोहिंग्या मुस्लिमो पर आंग सान सु ने तोड़ी चुप्पी कहा, रोहिंग्या म्यांमार में आतंकी हमलो में शामिल, अन्तराष्ट्रीय दबाव नही झुकेंगे

उन्होंने टाइम्स से बातचीत में कहा, चैनल कर्मचारियों को वापस अपनी नौकरी पर रख सकते है. लेकिन चरमपंथियों के लिए चैनल के रूप में एक मंच प्रदान नही कर सकते. उन्होंने कहा, सऊदी और उसके सहयोगी देश क़तर से बातचीत के लिए तैयार है.

उन्होंने आगे कहा, हमें राजनयिक समाधान चाहते है, हम विवाद को और बढ़ाना नहीं चाहते है. हालंकि संयुक्त अरब अमीरात के मंत्री द्वारा व्यक्त रियायतों के जवाब में, अल जजीरा मीडिया नेटवर्क ने हस्तक्षेप के बाहर खारिज कर दिया है.

और पढ़े -   यमन, रोहिंग्या सहित कई मुद्दों पर ईरानी राष्ट्रपति का संयुक्त राष्ट्र महासभा बैठक में विमर्श

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE