तेहरान, ईरान : सऊदी अरब में शिया नेता निम्र अल निम्र को मौत की सज़ा दिए जाने पर ईरान में लोग भड़क उठे हैं। शनिवार को लोगों ने तेहरान स्थित सऊदी दूतावास पर जबरदस्त प्रदर्शन किया और दूतावास पर पेट्रोल बम भी फेंक दिया। समाचार एजेंसी आईएसएनए के अनुसार बाद में पुलिस ने लोगों को दूतावास से दूर कर दिया।

तेहरान में सऊदी दूतावास पर जबरदस्त प्रदर्शन, पेट्रोल बम फेंका गया : रिपोर्टसाल 2011 से ही सऊदी में सरकार के खिलाफ प्रदर्शनों में मुख्य भूमिका निभाने वाले 56 वर्षीय शिया नेता निम्र अल निम्र को मौत की सजा दिए जाने के कुछ घंटों बाद तेहरान में यह ताजा घटना हुई है।

और पढ़े -   पाकिस्तान: क़ुरान पाक के पन्नों को जलाने को लेकर ईसाई युवक को भेजा गया जेल

शिया नेता निम्र अल निम्र को मौत की सजा दिए जाने का ईरान और इराक में जबरदस्त विरोध हुआ है। निम्र ने एक दशक से भी ज्यादा समय तक ईरान में रहकर धर्मशास्त्र का अध्ययन किया था। वे उन 47 शिया और सुन्नी लोगों में शामिल थे, जिन्हें आतंकवाद के आरोप में शनिवार को मौत की सजा दी गई।

बता दें कि ईरान शिया बहुल देश है और उसे सुन्नी बहुल सऊदी अरब का राजनीतिक प्रतिद्वंद्वी माना जाता है। निम्र अल निम्र को मौत की सजा दिए जाने पर ईरानी के विदेश मंत्रालय ने सऊदी अरब को धमकी देते हुए कहा था कि उसे इसकी क़ीमत चुकानी होगी।

और पढ़े -   सवा लाख अवैध हाजियों को मक्का से वापस भेजा गया

प्रभावशाली शिया धर्मगुरु अयातुल्ला अहमद खातमी ने इसे ऐसा ‘अपराध’ क़रार दिया, जिससे सऊदी अरब के शाही परिवार का खात्मा हो जाएगा। खबर ये भी थी कि शिया नेता को मौत की सजा देने के खिलाफ बहरीन में प्रदर्शन कर रहे लोगों पर पुलिस ने आंसू गैस के गोले छोड़े।

लेबनान की शिया परिषद ने निम्र को मौत की सज़ा देने की निंदा करते हुए इसे बहुत बड़ी गलती बताया। इससे पहले, सऊदी अरब के आंतरिक मंत्रालय ने कहा कि चरमपंथी अपराधों में दोषी पाए गए 47 लोगों को मौत के घाट उतार दिया गया, उनमें निम्र भी शामिल थे। साभार: ndtv.com

और पढ़े -   सऊदी और इराक में होते मजबूत रिश्ते, जल्द खुलेंगे बसरा और नजफ में सऊदी दूतावास

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE