इराक़ के पूर्व प्रधान मंत्री नूरी अल मालेकी ने कहा है कि अगर ईरान और सऊदी अरब के बीच युद्ध छिड़ गया तो कोई भी देश सऊदी अरब के साथ खड़ा नज़र नहीं आएगा।

अलअख़बार समाचार पत्र को इंटरव्यू देते हुए मालेकि ने कहा कि सऊदी रक्षा मंत्री मोहम्मद बिन सलमान सियासत की दुनिया में अभी अनाड़ी हैं, इसीलिए युद्ध को ईरान की सीमाओं तक ले जाने के दावे कर रहे हैं।

और पढ़े -   अपने मकसद के लिए इजरायल ने किया दूसरों को तबाह, क्या अब भारत की बारी ?

इराक़ी पूर्व प्रधान मंत्री का कहना था कि यमन के ख़िलाफ़ सऊदी अरब ने युद्ध छेड़कर बहुत बड़ी ग़लती की है और यमन, सऊद अरब के लिए एक दलदल साबित हो रहा है।

उन्होंने कहा कि आले सऊद सोच रहे हैं रियाज़ बैठक में अमरीका और कई देशों के नेताओं को बुलाकर उन्होंने ईरान के ख़िलाफ़ एक बड़ा गठबंधन बना लिया है, लेकिन ईरान इतना कमज़ोर नहीं है और सऊदी अरब इतना शक्तिशाली नहीं है कि वह युद्ध को ईरान की सीमाओं तक ले जाए।

और पढ़े -   भारत ने की OIC से कश्मीर के मामले में टिप्पणी न करने की अपील

इराक़ के पूर्व प्रधान मंत्री ने कहा कि सऊदी अरब ने पैट्रो डॉलर के बल पर जितने साथी जुटाए हैं, वक़्त आने पर उनमें से कोई भी एक साथ खड़ा दिखाई नहीं देगा। मालेकि ने कहा कि अंत में हार सऊदी अरब की ही होगी, इसलिए कि जब तक उसे होश आएगा वह अपनी सारी दौलत उड़ा चुका होगा।


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE